कश्मीर: एफिल टावर से ऊंचा रेलवे आर्क ब्रिज,कुतुबमीनार से बड़े खंभे

चिनाब नदी पर रेलवे आर्क ब्रिज लगभग तैयार

Updated
भारत
2 min read
कश्मीर: एफिल टावर से ऊंचा रेलवे आर्क ब्रिज,कुतुबमीनार से बड़े खंभे

जम्मू-कश्मीर में दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे आर्क ब्रिज बनकर तैयार होने वाला है. चिनाब नदी पर विश्व के सबसे ऊंचे रेलवे पुल का निर्माण आज पूरा हो जाएगा. इसी के साथ यह भारत में अब तक का सबसे बड़ा रेलवे प्रोजेक्ट होगा.

जम्मू-कश्मीर में दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज

चिनाब नदी पर बन रहा रेलवे आर्क ब्रिज, दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज है. सोमवार को ब्रिज के सबसे ऊपरी छोर पर 5.30 मीटर आखिरी मेटल पीस को लगाया जाएगा. इसके साथ इंजीनियरिंग के क्षेत्र में भारतीय रेलवे एक नया कीर्तिमान स्थापित कर देगा. आइये जानते हैं आखिर क्या खास बात है इस रेलवे आर्क ब्रिज में...

जम्मू-कश्मीर में दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज
जम्मू-कश्मीर में दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज
(Photo- Twitter Dr JitendraSingh)
  • चिनाब नदी पर बने रहे इस आइकॉनिक रेलवे आर्क ब्रिज की लंबाई 1315 मीटर है. जबकि नदी के तल से इसकी ऊंचाई 359 मीटर है. ब्रिज के एक तरफ लगे पिलर की ऊंचाई 131 मीटर है.
  • खास बात यह है कि रेलवे ब्रिज पेरिस के एफिल टॉवर से 35 मीटर ऊंचा है. रेलवे ब्रिज जिन खंभों पर टिका है, उसक एक तरफ की ऊंचाई 131 मीटर है जो कि कुतुबमीनार से कहीं ज्यादा है.
  • चिनाब नदी पर बना रेलवे आर्क ब्रिज ऑनलाइन मॉनिटरिंग और वॉर्निंग सिस्टम से लैस होगा. इसमें रोप-वे लिफ्ट की सुविधा भी होगी और सेंसर लगे होंगे. ताकि किसी भी प्रकार की खराबी आने पर तुरंत पता लग जाएगा.
  • अर्ध चंद्राकार यह रेलवे ब्रिज हर बात में ग्लोबल इंजीनियरिंग के लिए मिसाल होगा. इस पुल पर 100 किमी. की रफ्तार से ट्रेन दौड़ सकेगी.

उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना के तहत चिनाब ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है. इस रेलवे पुल की मदद से कश्मीर को रेलवे के माध्यम से देश के बाकी राज्यों और शहरों से जोड़ा जाएगा.

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने मार्च में ट्वीट करके रेलवे के इस प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी दी थी.

चिनाब नदी पर बन रहे रेलवे आर्क ब्रिज की लगात करीब 1400 करोड़ रुपए बताई जा रही है और इस साल दिसंबर तक इसका काम पूरा होने की संभावना है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!