कठुआ रेप-मर्डर केस: 3 दोषियों को उम्रकैद, 3 को 5-5 साल की सजा

Live updates: पठानकोट की अदालत ने इस मामले में फैसला सुना दिया है.

Updated
भारत
4 min read
कठुआ रेप मामले का दोषी स्पेशल पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरियाऔर ग्राम प्रधान सांजी राम
i

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ हुए गैंगरेप और मर्डर केस में अब फैसला आ गया है. पठानकोट की अदालत ने 7 में से 6 आरोपियों को दोषी करार दिया है. इसके अलावा सातवें आरोपी विशाल को बरी कर दिया गया है. अब इन 6 दोषियों में से 3 को उम्रकैद की सजा और 3 को 5-5 साल की कैद की सजा सुनाई गई है.

11:23 PM, 09 Jun

चार्जशीट में क्या कहा गया?

पंद्रह पन्नों की चार्जशीट के मुताबिक, पिछले साल 10 जनवरी को अगवा की गई आठ साल की बच्ची को कठुआ जिले के एक गांव के मंदिर में बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया. उसे चार दिन तक बेहोश रखा गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गयी. 14 जनवरी को उसकी हत्या कर दी गई थी और 17 जनवरी को उसका शव मिला था.

देखें वीडियो - सुनिए कठुआ केस की चार्जशीट में दर्ज रोंगटे खड़े कर देने वाली कहानी

11:26 PM, 09 Jun

आठ लोगों की हुई थी गिरफ्तारी

जम्मू-कश्मीर पुलिस की क्राइम ब्रांच के मामला संभालने के बाद जम्मू क्षेत्र में राजनीतिक उथल-पुथल देखी गई. क्राइम ब्रांच ने इस मामले में एक किशोर और दो पुलिस अधिकारियों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया था, जिन पर सबूत नष्ट करने का आरोप था.

11:24 PM, 09 Jun

पंजाब के पठानकोट में हुई सुनवाई

मामले में रोजाना आधार पर सुनवाई पड़ोसी राज्य पंजाब के पठानकोट में जिला और सत्र अदालत में पिछले साल जून के पहले हफ्ते में शुरू हुई थी. सुप्रीम कोर्ट ने मामले को जम्मू कश्मीर से बाहर भेजने का आदेश दिया था, जिसके बाद जम्मू से करीब 100 किलोमीटर और कठुआ से 30 किलोमीटर दूर पठानकोट की अदालत में मामले को भेजा गया.

सुप्रीम कोर्ट का आदेश तब आया जब कठुआ में वकीलों ने क्राइम ब्रांच के अधिकारियों को इस सनसनीखेज मामले में चार्जशीट दाखिल करने से रोका था. इस मामले में अभियोजन दल में जे के चोपड़ा, एस एस बसरा और हरमिंदर सिंह शामिल थे.

11:28 PM, 09 Jun

किस-किस की हुई गिरफ्तारी?

क्राइम ब्रांच ने इस मामले में ग्राम प्रधान सांजी राम, उसके बेटे विशाल, भतीजे किशोर और उसके दोस्त आनंद दत्ता को गिरफ्तार किया था. इस मामले में दो विशेष पुलिस अधिकारियों- दीपक खजुरिया और सुरेंद्र वर्मा को भी गिरफ्तार किया गया. सांजी राम से कथित तौर पर चार लाख रुपये लेने और महत्वपूर्ण सबूतों को नष्ट करने के मामले में हेड कॉन्‍स्टेबल तिलक राज और एसआई आनंद दत्ता को भी गिरफ्तार किया गया.


Published: 10 Jun 2019, 07:15 AM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!