मॉब लिंचिंग के दोषियों का सम्मान करने पर जयंत सिन्हा की सशर्त माफी
मॉब लिंचिंग के दोषियों का सम्मान करने पर जयंत सिन्हा की सशर्त माफी
मॉब लिंचिंग के दोषियों का सम्मान करने पर जयंत सिन्हा की सशर्त माफीफोटो: द क्विंट

मॉब लिंचिंग के दोषियों का सम्मान करने पर जयंत सिन्हा की सशर्त माफी

मॉब लिंचिंग के दोषियों का फूल-माला और मिठाई से सम्मान करने वाले केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने सशर्त माफी मांग ली है. झारखंड के रामगढ़ लिंचिंग मामले में जमानत पर रिहा हुए दोषियों का स्वागत करने पर उनकी भारी आलोचना हो रही थी. सोशल मीडिया पर कई तरह के कैंपेन भी चलाए जा रहे थे. अब जयंत सिन्हा ने 'गोलमोल' माफी मांगते हुए कहा है,

अगर उन लोगों (रामगढ़ लिंचिंग के दोषी) का सम्मान करने से ये जाहिर होता है कि मैं इस तरह के हिंसा का समर्थन करता हूं तो मैं खेद व्यक्त करता हूं.

केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा कि कानून अपना काम करेगा. दोषियों को सजा मिलेगी और निर्दोष बरी होंगे.

दोषियों का मिठाई खिलाकर स्वागत करते जयंत सिन्हा
दोषियों का मिठाई खिलाकर स्वागत करते जयंत सिन्हा
(फोटो: Twitter/ @Bhavana41609504)

जयंत के खिलाफ ऑनलाइन कैंपेन

जयंत के खिलाफ ऑनलाइन कैंपेन को राहुल का समर्थन
जयंत के खिलाफ ऑनलाइन कैंपेन को राहुल का समर्थन

इससे पहले जयंत सिन्हा से हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र का दर्जा वापस लेने का ऑनलाइन कैंपेन चल रहा है. राहुल गांधी ने इस कैंपेन का समर्थन करने की अपील की है. गांधी ने इस ऑनलाइन याचिका का लिंक शेयर करते हुए ट्वीट किया,‘‘अगर आप एक निर्दोष व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या के दोषियों को बहुत पढ़े-लिखे सांसद और केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा द्वारा माला पहनाने और सम्मान देने से दुखी हैं तो तो इस लिंक पर क्लिक करें और इस याचिका का समर्थन करें.'' कांग्रेस ने इस मामले में जयंत सिन्हा के इस्तीफे की भी मांग की है.

रामगढ़ लिंचिंग कांड

पिछले साल 29 जून को झारखंड के रामगढ़ में गोमांस ले जाने के आरोप में भीड़ की पिटाई से अलीमुद्दीन अंसारी नाम के शख्स की मौत हो गई थी. इस मामले में रामगढ़ की फास्ट ट्रैक अदालत ने इसी साल 21 मार्च को 12 आरोपियों में से 11 को आजीवन कारावास की सजा सुनायी थी. इनमें से 9 आरोपियों को जमानत पर रिहा कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें: बीजेपी को अब 'लिंच पुजारी' कहा जा रहा: कपिल सिब्बल

(यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.)