Live

नए हॉस्टल मैनुअल के खिलाफ JNUSU की याचिका पर कल होगी सुनवाई

जेएनयू में 5 जनवरी की शाम भारी हिंसा और तोड़फोड़ हुई थी. नकाबपोश गुंडो ने छात्रों पर हमला किया था. 

Updated
भारत
3 min read
नए हॉस्टल मैनुअल के खिलाफ JNUSU की याचिका पर कल होगी सुनवाई
स्नैपशॉट
  • जेएनयू में 5 जनवरी की शाम भारी हिंसा और तोड़फोड़
  • जेएनयू छात्र संघ ने एबीवीपी पर लगाया हिंसा के पीछे हाथ होने का आरोप
  • एबीवीपी ने लेफ्ट विंग से जुड़े लोगों पर लगाया हिंसा फैलाने का आरोप
  • पुलिस बोली- दो ग्रुप्स के बीच हुई थी झड़प
  • सेमेस्टर रजिस्ट्रेशन का विरोध कर रहे छात्रों के ग्रुप ने की मारपीट: जेएनयू

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

1:12 PM, 23 Jan

नए हॉस्टल मैनुअल के खिलाफ JNUSU की याचिका पर कल होगी सुनवाई

दिल्ली हाई कोर्ट नए हॉस्टल मैनुअल के खिलाफ JNUSU की याचिका पर कल सुनवाई करेगा. नए हॉस्टल मैनुअल के लागू होने से हॉस्टल की फीस बढ़ गई है जिसका कई छात्र विरोध कर रहे हैं.

10:11 AM, 22 Jan

करीब 88% छात्रों ने विंटर सेमेस्टर के लिए हॉस्टल फीस भरी: JNU VC

JNU के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने बताया है कि करीब 88% छात्रों ने विंटर सेमेस्टर के लिए हॉस्टल फीस भर दी है. कुमार ने कहा कि यूनिवर्सिटी ठीक चल रही है और अकादमिक गतिविधियां भी सामान्य हैं.

5:25 PM, 20 Jan

JNU: खाने के ऊपर विवाद पर छात्र की पिटाई

JNU के नर्मदा हॉस्टल के छात्र रागिब इकराम की खाने पर विवाद को लेकर कथित पिटाई की गई. आरोप है कि इकराम को तीन छात्रों ने इसलिए पीटा क्योंकि उसने तीनों को अपने हॉस्टल में खाने से रोक दिया था. इकराम को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

11:33 AM, 20 Jan

82% छात्रों ने विंटर सेमेस्टर के लिए हॉस्टल फीस भरी: JNU VC

JNU के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने बताया है कि यूनिवर्सिटी के कुल 8500 छात्रों में से 82% ने विंटर सेमेस्टर के लिए हॉस्टल फीस भर दी है. कुमार ने कहा, "बचे हुए छात्र भी जल्द ही रजिस्ट्रेशन करा लेंगे. लेट फी के साथ रजिस्ट्रेशन खुला है. कैंपस में शांति है. यूनिवर्सिटी में गणतंत्र दिवस की तैयारियां चल रही हैं."


Published: 14 Jan 2020, 01:02 PM IST
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!