MDH के मालिक ‘महाशय’ धरमपाल गुलाटी का 98 साल की उम्र में निधन

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली के एक अस्पताल में पिछले कुछ दिनों से उनका इलाज चल रहा था.

Updated
भारत
1 min read
MDH मसालों के मालिक धरमपाल गुलाटी
i

पूरे भारत में मशहूर MDH मसालों के मालिक महाशय धरमपाल गुलाटी का 98 साल की उम्र में निधन हो गया है. उन्हें कुछ दिनों पहले ही दिल्ली के माता चनन देवी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. बताया जा रहा है कि बुधवार रात से उनकी तबीयत बिगड़ गई.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है. केजरीवाल ने ट्विटर पर लिखा, "धरम पाल जी बहुत ही प्रेरणा देने वाली शख्सियत थे. उन्होंने अपने जीवन को समाज को समर्पित किया. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे."

डिप्टी सीएम सिसोदिया ने धरमपाल गुलाटी के साथ अपनी तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा, "भारत के सबसे प्रेरणादायी बिजनेसमैन. मैं कभी इतने जिंदादिल शख्स से नहीं मिला हूं."

करोड़ों का है MDH का कारोबार

गुलाटी 'मसालों के राजा', 'दादा जी' और 'महाशयजी' नाम से भी मशहूर थे. उनका जन्म 1923 में पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था. बंटवारे के बाद उनका परिवार भारत आ गया था.

MDH (महाशियां दी हट्टी) मसालों की शुरुआत उनके पिता महाशय चुन्नी लाल गुलाटी ने की थी. भारत आने के बाद, उन्होंने दिल्ली के करोल बाग में इसकी दुकान खोली. आज MDH मसालों का कारोबार करोड़ों में है. MDH के दुबई, लंदन जैसे शहरों में ऑफिस हैं और करीब 100 देशों में ये मसाले एक्सपोर्ट करती है.

2019 में, धरमपाल गुलाटी को भारत के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान, पद्मभूषण से नवाजा गया था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!