ADVERTISEMENTREMOVE AD

सिंघु बॉर्डर: लालच देकर मेरे भाई को किसान आंदोलन में बुलाया गया- पीड़ित परिवार

Singhu Border| पीड़ित परिवार का कहना है कि लखबीर इस तरह का व्यक्ति नहीं था कि वह गुरु ग्रन्थ साहिब का अपमान करे

Published
भारत
1 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

36 साल के एक आदमी को सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर शुक्रवार 15 अक्टूबर, सुबह किसान प्रदर्शन (Farmers Protest) स्थल के पास अंग भंग कर मार दिया गया था. पीड़ित के परिवार का कहना है कि "उसे वहां जाने का लालच दिया गया था."

पीड़ित की पहचान लखबीर सिंह (Lakhbir Singh) के तौर पर हुई है. वे जालंधर के पास चीमा खुर्द गांव के रहने वाले थे और मजदूरी किया करते थे.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि उनकी हत्या निहंग सिख समुदाय से आने वाले हमलावरों ने कि है. कथित तौर पर यह हत्या सिखों की पवित्र किताब गुरु ग्रंथ साहिब के अपमान से जुड़ी बताई का रही है.

लखबीर सिंह की बहन राज कौर ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया, "उन्होंने 50 रुपए लिए और खंकी वे चाबल में काम करने का रहे हैं व 7 दिन बाद लौटेंगे. मुझे लगा कि वे काम करने गए हैं. वे इस तरीके के आदमी नहीं थे कि गुरु ग्रंथ साहिब का अपमान करें. दोषियों को सजा जरूर होनी चाहिए."

0

लखबीर सिंह के परिवार में उन्हें गोद लेने वाले माता और पिता, बहन, पत्नी और तीन बच्चे हैं. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक लखबीर नशे का आदी था. उनके ससुर कहते है, उन्हें वहां लालच देकर उन्हें बुलाया गया था. इसकी जांच होनी चाहिए और उन्हें न्याय मिलना चाहिए

बता दें कि लखबीर सिंह के कोई राजनीतिक संबंध नहीं हैं. ना ही उनका कोई अपराधिक रिकॉर्ड था.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×