देश का एक ऐसा प्रांत जहां 2018 में एक भी रेप केस सामने नहीं आया

2017 में लक्षद्वीप में एक भी रेप केस नहीं हुआ था

Updated
भारत
3 min read
2017 में लक्षद्वीप में एक भी रेप केस नहीं हुआ था
i

NCRB के ताजा आंकड़े ये साफ-साफ बता रहे हैं कि भारत में महिलाओं के खिलाफ अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहा. 'क्राइम इन इंडिया-2018' की रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में देशभर में महिलाओं के खिलाफ 378,277 अपराध के मामले सामने आए, जो कि पिछले साल से 18,428 ज्यादा हैं. इनमें से 9% यानी कि 33,977 मामले रेप के दर्ज किए गए. महिलाओं से अपराध के मामले में मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में स्थिति बदतर नजर आ रही हैं. वहीं पुड्डुचेरी ऐसा राज्य है जो आस जगाता है.

ऐसा प्रांत जहां 2018 में एक भी रेप नहीं

पुडुचेरी, देश का एक ऐसा प्रांत है जहां 2018 में एक भी रेप केस सामने नहीं आया. इससे पहले 2017 में पुडुचेरी में रेप के 7 मामले सामने आए थे, जबकि इसी साल लक्षद्वीप में एक भी रेप केस नहीं हुआ था. 2018 रिपोर्ट में लक्षद्वीप में 2 रेप केस हुए हैं.

देश का एक ऐसा प्रांत जहां 2018 में एक भी रेप केस सामने नहीं आया
(ग्राफिक्स: Arnica Kala)

मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा महिलाओं के साथ दरिंदगी

साल 2018 में मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा महिलाओं के साथ दरिंदगी की गई. यहां 5450 महिलाओं से रेप किया गया. इनमें से भी ज्यादातर नाबालिग लड़कियों (2841) को दरिंदों ने अपनी हबस का शिकार बनाया. MP के बाद राजस्थान, उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा रेप के मामले आए.

देश का एक ऐसा प्रांत जहां 2018 में एक भी रेप केस सामने नहीं आया
(ग्राफिक्स: Arnica Kala)

नाबालिग रेप के मामले- 27.8%

NCRB 2018 रिपोर्ट के मुताबिक, देश में 27.8 फीसदी नाबालिग लड़कियों (9,433) को रेप का शिकार बनाया गया. इनमें से 29 राज्यों से 9,365 और 7 केंद्र शासित प्रदेश से 68 मामले सामने आए. नाबालिग लड़कियों से रेप मामले में भी मध्य प्रदेश सबसे आगे है.

अच्छी बाते ये है कि कम से कम महाराष्ट्र, तेलंगाना और त्रिपुरा में नाबालिग से रेप का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया.
देश का एक ऐसा प्रांत जहां 2018 में एक भी रेप केस सामने नहीं आया
(ग्राफिक्स: Arnica Kala)

छोटी बच्चियों से सबसे ज्यादा रेप UP में

साल 2018 में छह साल से छोटी बच्ची से रेप के मामले सबसे ज्यादा यूपी (67) में देखे गए हैं. 29 में 14 राज्यों में छोटी बच्चियों से दरिंदगी के मामले सामने आए हैं.

देश का एक ऐसा प्रांत जहां 2018 में एक भी रेप केस सामने नहीं आया
(ग्राफिक्स: Arnica Kala)

किस उम्र वर्ग की महिला सबसे ज्यादा टारगेट हुईं

NCRB 2018 रिपोर्ट के मुताबिक, देशभर में आधे से ज्यादा रेप 18 से 30 उम्र वर्ग (51.9%) की महिलाओं के साथ हुए.

देश का एक ऐसा प्रांत जहां 2018 में एक भी रेप केस सामने नहीं आया
(ग्राफिक्स: Arnica Kala)

इन आंकड़ों से साफ है कि महिला सुरक्षा के मामले में हमारे देश की सरकारों को अभी भी बहुत कुछ करना है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!