हैदराबाद गैंगरेप पर बोले नितिन गडकरी-चौराहे पर दे देनी चाहिए फांसी

हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर के गैंगरेप और मर्डर से पूरे देश में गुस्सा

Published03 Dec 2019, 02:20 PM IST
भारत
2 min read

रोड सेफ्टी पर क्विंट के एक इवेंट में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने हैदराबाद रेप केस पर कहा कि ये घटना देखने के बाद ऐसा लगा कि दोषियों को चौराहे पर फांसी पर लटका देना चाहिए. गडकरी ने कहा कि कानून के प्रति सम्मान और डर नहीं होना, समाज के लिए अच्छी बात नहीं है.

‘कल जो हैदराबाद की घटना हुई, पहले मैं कहता था कि फांसी की सजा बहुत ज्यादा है, आदमी अगर कभी गलती करता है तो उसे सुधरने का मौका देना चाहिए, लेकिन घटना की तीव्रता देखकर मन में ये आया कि इनको तो चौक पर फांसी पर लटकाना चाहिए.’
नितिन गडकरी, केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री

नितिन गडकरी की ये प्रतिक्रिया नए मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर पूछे गए एक सवाल पर आई. कार्यक्रम में जब गडकरी से पूछा गया कि कड़े कानून के बाद लगा था कि लोगों का व्यवहार बदलेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और इस पर विवाद भी हुआ. इस पर नितिन गडकरी ने कहा, 'अगर लोगों के मन में कानून के प्रति डर और सम्मान नहीं होगा, तो हम लोग समाज को ठीक से चला नहीं पाएंगे.'

हैदराबाद में हैवानियत

27 नवंबर की रात, हैदराबाद में एक सरकारी वेटेरनरी डॉक्टर का गैंगरेप कर उसका मर्डर कर दिया गया था. इसके बाद आरोपियों ने डॉक्टर के शव को आग के हवाले कर दिया.

डॉक्टर एक टोल प्लाजा पर अपनी स्कूटी खड़ी कर क्लीनिक के लिए निकली थी. जब वो वापस आई तो उसकी स्कूटी का टायर पंक्चर था. वहीं टोल पर मौजूद चार लड़कों ने साजिश के तहत उसकी स्कूटी पंक्चर की थी. डॉक्टर के लौटने के बाद दो आरोपी जबरन उसकी स्कूटी ठीक कराने के लिए ले गए, और बाकी दोनों डॉक्टर को पास के एक कंपाउंड में ले गए, जहां बारी-बारी से चारों ने उसका रेप किया.

इस मामले में पुलिस ने 29 नवंबर को चारों आरोपियों- जोलू शिवा, जोलू नवीन, मोहम्मद आरिफ और चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलु को गिरफ्तार किया. चारों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है.

मामले के सामने आने के बाद से देशभर में गुस्सा है. सोशल मीडिया पर यूजर्स आरोपियों को फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं. कई फिल्मी सितारों ने भी डॉक्टर के लिए न्याय मांगते हुए आरोपियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग की है.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!