ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिल्ली में फिर से ऑड-ईवन, प्रदूषण पर लगाम के लिए 13 से 20 नवंबर तक पाबंदी

Delhi Pollution: पर्यावरण मंत्री ने कहा-"प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए स्कूलों की छुट्टी 11वीं कक्षा तक बढ़ा दी गई है."

Published
भारत
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में बढ़ते प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने ऑड-ईवन निमय (Odd-Even Rule) लागू करने का फैसला किया है. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिवाली के अगले दिन से दिल्ली में ऑड-ईवन नियम लागू हो जाएगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि प्रदूषण के बढ़ते स्तर को देखते हुए स्कूलों की छुट्टी 11वीं कक्षा तक बढ़ा दी गई है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

पर्यावरण मंत्री ने कहा कि

राष्ट्रीय राजधानी में कक्षा 10 और 12 को छोड़कर सभी स्कूल 10 नवंबर तक बंद रहेंगे. हवा की बिगड़ती गुणवत्ता को देखते हुए मौजूदा वक्त में कक्षा 5 तक की कक्षाएं निलंबित हैं.
ऑड-ईवन नियम, पिछले कुछ वर्षों से प्रदूषण से लड़ने में अरविंद केजरीवाल सरकार का अहम कदम रहा है. दिवाली के अगले दिन 13 नवंबर से यह फिर से लागू किया जाएगा.

इस नियम के तहत, केवल विषम संख्या वाले रजिस्टर्ड संख्या वाले वाहनों को विषम संख्या वाले दिनों में दिल्ली की सड़कों पर अनुमति दी जाएगी और सम संख्या वाले वाहनों को सम संख्या वाले दिनों के लिए छूट दी जाएगी.

पर्यावरण मंत्री ने कहा कि सम-विषम नियम को 20 नवंबर से आगे बढ़ाने की जरूरत पर बाद में समीक्षा की जाएगी.

दुनिया में सबसे प्रदूषित शहर बना दिल्ली

दिल्ली पिछले एक हफ्ते से जहरीली धुंध की मोटी चादर में लिपटी हुई है, जिससे हवा की गुणवत्ता इस हद तक खराब हो रही है कि बुजुर्गों और बच्चों के लिए स्वास्थ्य जोखिम पैदा हो गया है. रिपोर्ट में सामने आया है कि मौजूदा वक्त में भारत की राष्ट्रीय राजधानी दुनिया का सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर है.

दिल्ली के सबसे ज्यादा प्रदूषित इलाके कौन?

6 नवंबर की सुबह दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 488 दर्ज किया गया, जो विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा निर्धारित सुरक्षित स्तर से काफी ज्यादा है. सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में आरके पुरम (466), ITO (402), पटपड़गंज (471) और न्यू मोती बाग (488) शामिल है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×