ADVERTISEMENT

PM का संबोधन: कोरोना से जंग,वैक्सीन पर ‘सवाल ’ के जवाब दे रहे मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को संबोधित कर रहे हैं.

Updated
भारत
2 min read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश में कोरोना वायरस स्थिति को लेकर देश को संबोधित कर रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि बीते 100 सालों में आई ये सबसे बड़ी महामारी है. पीएम ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए सबसे बड़ा हथियार वैक्सीन ही है. इस दौरान पीएम मोदी ने सरकार की वैक्सीनेशन उपलब्धियों को भी गिनाया.

“सेकेंड वेव के दौरान अप्रैल और मई के महीने में भारत में मेडिकल ऑक्सीजन की डिमांड अकल्पनीय रूप से बढ़ गई थी. भारत के इतिहास में कभी भी इतनी मात्रा में मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत महसूस नहीं की गई. इस जरूरत को पूरा करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया गया. सरकार के सभी तंत्र लगे.”
पीएम मोदी

वैक्सीन पर गिनाईं सरकार की उपलब्धियां

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले 50-60 साल का इतिहास देखने पर पता चलेगा कि भारत को विदेशों से वैक्सीन प्राप्त करने में दशकों लग जाते थे. विदेशों में वैक्सीन का काम पूरा हो जाता था, तब भी भारत में वैक्सीनेशन का काम शुरू नहीं हो पाता था. पीएम ने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों ने ये दिखा दिया कि भारत बड़े-बड़े देशों से पीछे नहीं है और देश ने एक साल के भीतर ही एक नहीं बल्कि दो मेड इन इंडिया वैक्सीन्स लॉन्च कर दी. पीएम ने बताया कि आने वाले दिनों में वैक्सीन की सप्लाई और भी ज्यादा बढ़ने वाली है.

ADVERTISEMENT

राज्य सरकारों की आलोचना पर जवाब

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने राज्य सरकारों की आलोचना पर भी जवाब दिया. पीएम ने कहा कि “केंद्र सरकार को लेकर कई सवाल किए गए कि सब कुछ भारत सरकार ही क्यों तय कर रही है? राज्य सरकारों को छूट क्यों नहीं दी जा रही? राज्य सरकारों को लॉकडाउन की छूट क्यों नहीं मिल रही?”

प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले वैक्सीन को डी-सेंट्रलाइज्ड करने की मांग उठी. पीएम ने इसके बाद सभी के लिए वैक्सीन फ्री करने की घोषणा की. पीएम ने कहा कि 21 जून से 18+ आयु वर्ग के लिए केंद्र सरकार राज्य सरकारों को मुफ्त वैक्सीन मुहैया कराएगी.

ADVERTISEMENT
“देश में बन रही वैक्सीन में से 25%, प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएं, ये व्यवस्था जारी रहेगी. प्राइवेट अस्पताल, वैक्सीन की निर्धारित कीमत के ऊपर एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे. इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा.”
पीएम मोदी 

इसके अलावा पीएम ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को बढ़ाने को लेकर भी घोषणा की. पीएम ने कहा कि सरकार ने फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को अब दीपावली तक आगे बढ़ाया जाएगा. महामारी के इस समय में, सरकार गरीब की हर जरूरत के साथ, उसका साथी बनकर खड़ी है, यानी नवंबर तक 80 करोड़ से अधिक देशवासियों को, हर महीने तय मात्रा में मुफ्त अनाज उपलब्ध होगा.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT