ADVERTISEMENT

बांग्लादेश की आजादी के लिए मैंने भी किया था सत्याग्रह: पीएम मोदी

बांग्लादेश की आजादी के लिए पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तारीफ की

Updated
भारत
2 min read
पीएम मोदी, शेख हसीना
i

बांग्लादेश दौरे पर पहुंचे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, बांग्लादेश की आजादी के लिए संघर्ष में शामिल होना, मेरे जीवन के पहले आंदोलनों में से एक था. 20-22 साल की उम्र में मैंने कई साथियों के साथ बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए सत्याग्रह किया था. इस दौरान पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तारीफ भी की.

बांग्लादेश की आजादी के 50 साल पूरे हो रहे हैं. इस अवसर पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बतौर मुख्य अतिथि बांग्लादेश दौरे पर पहुंचे हैं.

‘बांग्लादेश की आजादी के लिए किया सत्याग्रह’

बांग्लादेश की आजादी के 50 साल पूरे हो रहे हैं, इस मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि:

“बांग्लादेश के मेरे भाइयों और बहनों को, यहां की नौजवान पीढ़ी को, मैं एक और बात बहुत गर्व से याद दिलाना चाहता हूं. बांग्लादेश की आजादी के लिए संघर्ष में शामिल होना, मेरे जीवन के भी पहले आंदोलनों में से एक था. मेरी उम्र 20-22 साल रही होगी जब मैंने और मेरे कई साथियों ने बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए सत्याग्रह किया था.”

पीएम मोदी ने कहा कि, “मैं आज भारतीय सेना के उन वीर जवानों को भी नमन करता हूं जो बांग्लादेश के भाइयों-बहनों के साथ खड़े हुये थे. जिन्होंने अपना लहू दिया, अपना बलिदान दिया, और आजाद बांग्लादेश के सपने को साकार करने में बहुत बड़ी भूमिका निभाई.”

पीएम मोदी ने की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तारीफ

बांग्लादेश की आजादी के संघर्ष और आंदोलन को याद करते हुए पीएम मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तारीफ की. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश की आजादी के आंदोलन को लेकर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के प्रयास और उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को सब जानते हैं।

पीएम मोदी ने भारत और बांग्लादेश के संबंधों को लेकर कहा कि, दोनों देश किसी भी दबाव से टूटेंगे नहीं और किसी भी कूटनीति का शिकार नहीं बनेंगे.

‘बंगबंधु’ शेख मुजीबुर रहमान को मरणोपरांत गांधी शांति पुरस्कार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बांग्लादेश की आजादी के नायक शेख मुजीबुर रहमान को मरणोपरांत गांधी शांति पुरस्कार से सम्मानित किया. उन्होंने शेख मुजीबुर रहमान की बेटी को यह सम्मान सौंपा.

“बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान बांग्लादेश और भारतीयों के लिए आशा की किरण थे. उनके नेतृत्व ने ये तय कर दिया था कि कोई भी ताकत बांग्लादेश को ग़ुलाम नहीं रख सकती.”
नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

पीएम मोदी ने कहा कि मैं शेख मुजीबुर रहमान को श्रद्धांजलि देता हूं जिन्होंने बांग्लादेश के लिए अपना जीवन न्योछावर कर दिया. साथ ही उन्होंने भारतीयों की ओर से बांग्लादेश के सभी नागरिकों को बधाई दी.

पीएम मोदी ने भारतीयों की ओर से बांग्लादेश के लोगों को बधाई दी और कहा कि ये एक सुखद संयोग है कि बांग्लादेश के आजादी के 50 वर्ष और भारत की आजादी के 75 वर्ष का पड़ाव, एक साथ ही आया है. हम दोनों ही देशों के लिए, 21वीं सदी में अगले 25 वर्षों की यात्रा बहुत ही महत्वपूर्ण है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT