ADVERTISEMENT

उर्दूनामा। महात्मा की जयंती पर सुनिए ‘दास्तान-ए-गांधी’

‘दास्तान-ए-गांधी’ को दास्तानगो फिरोज खान ने परफॉर्म किया था

Updated
उर्दूनामा। महात्मा की जयंती पर सुनिए ‘दास्तान-ए-गांधी’
i

क्या आपने दास्तान-ए-गांधी सुना है?

'दास्तान' मतलब 'कहानी' और 'दास्तान-ए-गांधी' मतलब... महात्मा गांधी की कहानी.

उर्दूनामा के इस खास एपिसोड में, हम आपको सुनाएंगे 'दास्तान-ए-गांधी', गांधी के भारत लौटने और उनके आम आदमी से 'महात्मा' बनने तक का पूरा सफर.

'दास्तान-ए-गांधी' को दास्तानगो फिरोज खान ने परफॉर्म किया था और दानिश इकबाल ने इसे लिखा था. इस पॉडकास्ट के लिए हमने दानिश इकबाल से इस बारे में खास बात की.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×