ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिवाली पर जमकर फूटे पटाखे, कई शहरों में AQI बढ़ा, प्रदूषण भी फैला

दिल्ली, लखनऊ, नोएडा समेत कई शहरों में दिवाली की अगली सुबह AQI गंभीर कैटेगरी में देखा गया.

Published
भारत
3 min read
story-hero-img
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

दिवाली की रात जहां पूरा देश दीयों की रोशनी में जगमगाया, तो वहीं उसकी अगली सुबह कई शहरों में स्मॉग की चादर बिछ गई. पटाखों पर प्रतिबंध के बावजूद उत्तर भारत में जमकर पटाखे फोड़े गए, जिसके कारण रविवार को कई शहरों में AQI (एयर क्वॉलिटी इंडेक्स) यानी कि प्रदूषण का स्तर बढ़ गया. दिल्ली, लखनऊ, नोएडा समेत कई शहरों में दिवाली की अगली सुबह AQI गंभीर कैटेगरी में देखा गया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

दिल्ली

सरकार द्वारा पटाखों पर बैन लगाए जाने के बावजूद दिल्लीवासियों ने दिवाली की रात जमकर आतिशबाजी की. गीता कॉलोनी, सिविल लाइन्स, ISBT, ITO में धुंध के चलते विजुअलिटी भी रविवार सुबह बेहद खराब स्तर पर रही. दिल्ली पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी के आंकड़ों के मुताबिक, आनंद विहार का AQI 461 और ITO क्षेत्र में AQI 461 तक पहुंच गया. वहीं सुबह 7 बजे दिल्ली का औसत AQI 443 रहा.

अगर दिवाली की दोपहर लगभग 2:30 बजे के डेटा पर नजर डालें, तो सबसे ज्यादा AQI जहांगीरपुरी का देखने को मिला, जहां ये 500 था. वहीं, अशोक विहार का 491, प्रतापगंज का 475, पूसा रोड का 460, लोधी रोड का 442 और IGI एयरपोर्ट का AQI 442 तक रहा.

  • 01/02
    नई दिल्ली में दिवाली के दिन फोड़े गए पटाखे(फोटो: PTI)
  • 02/02
    दिवाली की अगली सुबह नई दिल्ली के राजपथ का नजारा(फोटो: PTI)
0
बता दें कि 101 से 200 तक का AQI मॉडरेट कैटेगरी के अंदर आता है. वहीं, 201 से 300 तक का खराब कैटेगरी में, 301 से 400 तक का काफी खराब कैटेगरी में, और 401 से 500 तक का AQI सीवियर यानी कि गंभीर कैटेगरी में आता है. 500 से ऊपर AQI अति गंभीर होता है.

नोएडा

दिवाली की अगली सुबह नोएडा का हाल भी दिल्ली जैसा ही रहा. आज सुबह नोएडा का AQI 468 रिकॉर्ड किया गया, जो कि काफी खतरनाक है. न्यूज एजेंसी IANS के मुताबिक, पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी के बावजूद नोएडा में दिवाली पर खूब पटाखे फोड़े गए. बिक्री को रोकने के लिए पुलिस गश्त करती रही, दुकानदारों से पूछताछ भी करती रही, बावजूद इसके कई दुकानदारों ने पटाखे बेचे. ग्रीन पटाखों की जगह जमकर अवैध पटाखे भी चलाए गए.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

लखनऊ

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी 15 नवंबर की सुबह स्मॉग काफी बढ़ गया था. सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड (CPCB) के मुताबिक, लखनऊ के लालबाग इलाके में रविवार सुबह AQI 396 रिकॉर्ड किया गया. राजाजीपुरम इलाके का AQI 752, और नका हिंद, केसरबाग में भी हवा की गुणवत्ता काफी खराब कैटेगरी में रही.

दिल्ली, लखनऊ, नोएडा समेत कई शहरों में दिवाली की अगली सुबह AQI गंभीर कैटेगरी में देखा गया.
उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में सड़क पर पड़ा पटाखों का कचरा, 15 नवंबर की तस्वीर
(फोटो: PTI)

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 8 बजे तक जब शहर में पुलिस वैन पेट्रोलिंग कर रही थीं, तब लोग पटाखे फोड़ने से बचते नजर आए, लेकिन रात 9 बजे के बाद जमकर पटाखे फोड़े गए.

बढ़ते AQI के साथ साथ, उत्तर भारत के कई शहरों मे पटाखों से हुई गंदगी की वजह से जगह-जगह कचरे के ढेर लग गए. सामने आई तस्वीरों में सड़क पर फटे पटाखों का अंबार देखा जा सकता है.

कानपुर

कानपुर से भी पटाखे फोड़े जाने की खबरें सामने आई हैं. CPCB के मुताबिक, कानपुर के नेहरू नगर में आज सुबह AQI 328 पहुंच गया. वहीं, शहर के कई इलाकों में पटाखों से सड़कों पर कचरा फैल गया है.

उत्तर प्रदेश के दूसरे कई शहरों में, जैसे, मेरठ, मुरादाबाद, वाराणसी, हापुड़ में भी बैन का उल्लंघन किया गया.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×