रेप पीड़िता के परिवार का आरोप- ‘भोज नहीं दिया तो कर दिया बहिष्कार’

मांसाहार का भोज न कराने पर कर दिया पंचायत ने जात से बाहर

Published
भारत
1 min read
मांसाहार का भोज न कराने पर कर दिया पंचायत ने जात से बाहर
i

मध्यप्रदेश के राजगढ़ में पंचायत ने एक रेप पीड़िता के पिता को ही समाज से बाहर का रास्ता दिखा दिया. 17 साल की रेप पीड़िता के पिता ने पंचायत पर ये आरोप लगाया है. उनके मुताबिक, ग्राम पंचायत ने भोज न खिलाने की वजह से जाति से निकालने का फरमान सुनाया है. इस बात की शिकायत पुलिस में भी की जा चुकी है और पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है.

आरोप है कि पंचायत ने हुक्म दिया था कि रेप होने के बाद वो अपनी जाति वालों को ‘नॉन वेज’ का भोज खिलाए जिसके बाद उनकी बेटी ‘शुद्ध’ हो जाएगी. पंचायत ने ये भी कहा था कि जब तक भोज नहीं कराया जाएगा तब तक के लिए जात में उनका हुक्का पानी बंद रहेगा.

पुलिस को नहीं मिली भोज वाली कोई बात

इस मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है लेकिन जांच के दौरान उनको भोज वाला एंगल नहीं मिला है. मध्यप्रदेश पुलिस ने कहा है कि ये मामला जनवरी का है. पुलिस का कहना है कि पूछताछ में भोज वाली बात सामने नहीं आई है, लेकिन जांच जारी है

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!