ADVERTISEMENT

पत्रकार कमाल खान का दिल का दौरा पड़ने से निधन

कमाल खान को उनकी बेहतरीन पत्रकारिता के लिए सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में से एक रामनाथ गोयनका अवॉर्ड मिला था.

Updated
भारत
2 min read
<div class="paragraphs"><p>पत्रकार कमाल खान</p></div>
i

एनडीटीवी के तेज तर्रार पत्रकार कमाल खान (Kamal Khan) का निधन हो गया है. बताया जा रहा है कि दिल का दौरा पड़ने से कमाल खान का निधन हो गया. कमाल खान एनडीटीवी के उत्तर प्रदेश ब्यूरो में कार्यकारी संपादक थे.

कमाल खान को उनकी बेहतरीन पत्रकारिता के लिए पत्रकारिता के क्षेत्र में भारत में सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में से एक है रामनाथ गोयनका पुरस्कार मिला था. साथ ही भारत के राष्ट्रपति द्वारा गणेश शंकर विद्यार्थी पुरस्कार से भी सम्मानित थे.

ADVERTISEMENT

कमाल खान के निधन पर उनके चैनल एनडीटीवी ने लिखा है कि तीन दशक से दिल छू लेने वाली खबरें करने वाले, हमारे चहेते कमाल खान, आज हम सबको अनंत शोक में छोड़ कर चले गए. यह हम सबके लिए गहरे शोक की घड़ी है. एनडीटीवी ने कहा,

"आज एनडीटीवी परिवार के लिए एक अपूरणीय क्षति हुई है, हमारे लखनऊ ब्यूरो के दिल, अनुभवी पत्रकार कमाल खान का आज सुबह अप्रत्याशित रूप से निधन हो गया. पिछले दशकों में कमाल की रिपोर्ताज अलग तरह की थी, और वो काव्य निपुणता के साथ कठिन सत्य को व्यक्त करते थे. सबसे बढ़कर, वह एक अद्भुत इंसान थे, जिन्होंने उन सभी के जीवन को छुआ जो उन्हें जानते थे. उनके परिवार के प्रति हमारी हार्दिक संवेदना और उनकी दिवंगत आत्मा के लिए प्रार्थना."

बता दें कि कमाल खान अपने खबर को पेश करने के अंदाज को लेकर काफी मशहूर थे और देश भर में उनके अंदाज और रिपोर्टिंग को सराहा जाता था.

कमाल खान की आखिरी स्टोरी

कमाल खान ने अपनी आखिरी स्टोरी कल शाम की थी. उत्तर प्रदेश में चुनाव से पहले नेताओं के दलबदलने को लेकर उनकी आखिरी रिपोर्ट आप नीचे देख सकते हैं.

स्नैपशॉट

कमाल के जाने को लेकर राजनीतिक दलों के नेताओं से लेकर सामाजिक कार्यकर्ताओं और पत्रकारों ने गहरा दुख जताया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT