ADVERTISEMENTREMOVE AD

स्वाति मालीवाल ने केजरीवाल के PA पर लगाए गंभीर आरोप, आप ने कहा- BJP ने षड्यंत्र के तहत भेजा था घर

स्वाति मालिवाल आम आदमी पार्टी की सांसद हैं और उनके साथ यह कथित घटना सीएम केजरीवाल के आवास के अंदर हुई है.

Updated
भारत
6 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

"सीएम के निजी सचिव, विभव कुमार अचानक घुस आए... उन्होंने बिना उकसावे के चिल्लाना शुरू कर दिया और मेरे साथ दुर्व्यवहार किया... उन्होंने मुझे 7 से 8 बार थप्पड़ मारे और मैं चिल्लाती रही... मैं बार-बार मदद के लिए चिल्ला रही थी लेकिन कोई नहीं आया."

आम आदमी पार्टी (AAP) की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) पर कथित हमले के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी सहायक विभव कुमार के खिलाफ दर्ज एफआईआर में यह आरोप लगाया गया है. स्वाति मालीवाल की शिकायत पर दर्ज एफआईआर के अनुसार, उन्हें सीएम आवास के अंदर "सीने, पेट और कमर के नीचे (पेल्विस) के एरिया पर लात मारी गई" और गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी दी गई.

हालांकि इस बीच एक कथित वीडियो भी सामने आया है जिस पर राजनीति तेज हो गई है.

चलिए आपको बताते हैं कि इस एफआईआर में क्या कुछ आरोप लगाए गए हैं. AAP की तरफ से आरोपों पर क्या प्रतिक्रिया आई है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

एफआईआर में क्या आरोप लगाए गए हैं?

दस्तावेज के मुताबिक, 13 मई को स्वाति मालीवाल सीएम केजरीवाल के सिविल लाइंस स्थित आवास पर उनके कैंप कार्यालय गईं. यहां उन्होंने विभव कुमार को फोन किया और मैसेज किया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका.

आरोप है कि जब वह ड्राइंग रूम में सीएम का इंतजार कर रही थीं तभी विभव कुमार "अचानक अंदर घुस आए, बिना उकसावे के उन पर चिल्लाए और उनके साथ दुर्व्यवहार किया". एफआईआर के अनुसार कथित तौर पर फिर उनके साथ मारपीट भी की गई.

कथित घटना के तीन दिन बाद गुरुवार, 16 मई को स्वाति मालीवाल की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई. इसमें कहा गया है कि स्वाति मालिवाल के पहुंचने पर विभव कुमार सीएम के घर पर मौजूद नहीं थे इसलिए वह मेन गेट से अंदर चली गईं, जैसा कि वह पिछले सालों में हमेशा करती रही हैं. उन्होंने सीएम के स्टाफ को बताया कि वह उनसे मिलने के लिए आई हैं. उन्हें बताया गया कि सीएम "घर में मौजूद हैं" और उन्हें ड्राइंग रूम में इंतजार करने के लिए कहा गया. एफआईआर में कहा गया है कि तब एक स्टाफ मेंबर आया और बताया कि सीएम उनसे मिलने आ रहे हैं.

"सीएम के निजी सहायक, विभव कुमार अचानक घुस आए... उन्होंने बिना उकसावे के चिल्लाना शुरू कर दिया और मेरे साथ दुर्व्यवहार किया... उन्होंने मुझे 7 से 8 बार थप्पड़ मारे और मैं चिल्लाती रही... मैं बार-बार मदद के लिए चिल्ला रही थी लेकिन कोई नहीं आया."
एफआईआर में आरोप
0

स्वाति मालीवाल ने आरोप लगाया कि जब उन्होंने पुलिस पीसीआर नंबर, 112 पर डायल किया तो विभव कुमार ने उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी. फिर विभव कमरे से बाहर चले गए और सुरक्षाकर्मियों के साथ वापस आएं. सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें जाने के लिए कहा.

स्वाति मालीवाल ने एफआईआर में कहा है कि घटना के बाद वह सिविल लाइंस स्थित अपने पुराने आवास पर गईं और उनके साथ कुछ पुलिसकर्मी भी थे. इसके बाद पुलिस ने उन्हें घर ले जाने के लिए एक ऑटो बुलाया. लेकिन उन्होंने मामले में रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन जाने का फैसला किया. एफआईआर में कहा गया है कि जब उन्होंने घटना के बारे में SHO को सूचित किया तो दर्द में होने के कारण वह लिखित शिकायत दर्ज किए बिना स्टेशन से चली गई.

एफआईआर में कहा गया है, “वह (विभव कुमार) मुझ पर झपटा… बेरहमी से खींचा और जानबूझकर मेरी शर्ट ऊपर खींची… मेरा सिर सेंटर टेबल पर लगा और मैं नीचे गिरी… उसने कमर के नीचे (पेल्विस) के एरिया पर लात मारी… मैंने उसे बताया कि मेरे पीरियड्स चल रहे लेकिन वह बार-बार पूरी ताकत से मुझ पर हमला करता रहा."
ADVERTISEMENTREMOVE AD

सामने आया एक कथित वीडियो

13 मई की इस घटना के दौरान का मालीवाल का एक कथित वीडियो सामने आया है. इस पर खूब विवाद भी हो रहा है. इस वायरल वीडियो में कथित तौर पर मालीवाल और सीएम हाउस के सुरक्षाकर्मियों के बीच बहस हो रही है.

कथित वीडियो में पुलिस को बुलाने की बात सुनाई दे रही है, वहीं सुरक्षाकर्मी महिला को बाहर जाने के लिए कह रहे हैं.

हालांकि यह वीडियो एक मिनट का भी नहीं है और इस अधूरे वीडियो से पूरे संदर्भ का पता लगा पाना मुश्किल है. साथ ही क्विंट हिंदी इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है.

कथित वीडियो के बाहर आने के बाद स्वाति मालीवाल ने ट्वीट किया, "हर बार की तरह इस बार भी इस राजनीतिक हिटमैन ने खुद को बचाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं. अपने लोगों से ट्वीट्स करवा कर, आधी बिना संदर्भ की वीडियो चलाकर इसे लगता है ये इस अपराध को अंजाम देकर खुद को बचा लेगा. कोई किसी को पीटते हुए वीडियो बनाता है भला? घर के अंदर की और कमरे की CCTV फुटेज की जांच होते ही सत्य सबके सामने होगा. जिस हद तक गिर सकता है गिर जा, भगवान सब देख रहा है. एक ना एक दिन सब की सच्चाई दुनिया के सामने आएगी."
ADVERTISEMENTREMOVE AD

अब तक क्या हुआ?

विभव कुमार पर आईपीसी की धारा 354 (महिला को निर्वस्त्र करने के इरादे से उस पर हमला या आपराधिक बल का प्रयोग), 506 (आपराधिक धमकी), 509 (किसी महिला की गरिमा का अपमान करने के इरादे से शब्द, इशारा या कृत्य) और 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

गुरुवार को अतिरिक्त दिल्ली पुलिस मालीवाल का बयान दर्ज करने के लिए उनके मिंटो रोड स्थित घर पहुंची थी. उस रात बाद में, मालीवाल को मेडिकल जांच के लिए एम्स ले जाया गया.

AAP ने अब तक मामले पर क्या प्रतिक्रिया दी है?

स्वाति मालीवाल आम आदमी पार्टी की सांसद हैं और उनके साथ यह कथित घटना सीएम केजरीवाल के आवास के अंदर हुई है.

मालीवाल के कथित वीडियो पर आम आदमी पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा गया- स्वाति मालीवाल का सच

इसके अलावा आम आदमी पार्टी ने शुक्रवार को एक प्रेस कांफ्रेंस भी की. केजरीवाल सरकार में मंत्री आतिशी ने यहां कहा कि स्वाति मालीवाल ने सीएम केजरीवाल के निजी सहायक विभव कुमार पर जो भी आरोप लगाए हैं वो गलत हैं. आतिशी ने आरोप लगाया कि स्वाति मालीवाल बिना किसी अपॉइंटमेंट के सीएम आवास आईं थी. उनका इरादा अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाना था.

"बीजेपी ने साजिश के तहत स्वाति मालीवाल को अरविंद केजरीवाल के घर भेजा. इस षड्यंत्र का मकसद अरविंद केजरीवाल पर झूठे आरोप लगाना था. स्वाति मालीवाल इस साजिश का चेहरा और मोहरा थीं... स्वाति मालीवाल बिना किसी अपॉइंटमेंट के सीएम आवास आईं थी. उनका इरादा अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाना था. लेकिन वो वहां नहीं थे तो बच गए. फिर स्वाति मालीवाल ने विभव कुमार पर आरोप लगाए."
आतिशी

इसके बाद स्वाति मालीवाल ने आरोपों पर जवाब दिए हैं.

एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, "पार्टी में कल के आए नेताओं से 20 साल पुरानी कार्यकर्ता को BJP का एजेंट बता दिया. दो दिन पहले पार्टी ने PC में सब सच कबूल लिया था और आज U-Turn. ये गुंडा पार्टी को धमका रहा है, मैं अरेस्ट हुआ तो सारे राज खोलूंगा. इसलिए ही लखनऊ से लेकर हर जगह शरण में घूम रहा है."

"आज उसके दबाव में पार्टी ने हार मान ली और एक गुंडे को बचाने के लिए पूरी पार्टी से मेरे चरित्र पर सवाल उठाए गए. कोई बात नहीं, पूरे देश की महिलाओं के लिए अकेले ही लड़ती आई हूं, अपने लिए भी लड़ूंगी. जमकर करैक्टर असैसीनैशन करो, वक्त आने पर सब सच सामने आएगा."
स्वाति मालीवाल

वहीं सीएम केजरीवाल ने 16 मई को लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान घटना के संबंध में सवालों को टाल दिया. उनके साथ समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और संजय सिंह भी मौजूद थे. फिर संजय सिंह ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि इस मुद्दे पर राजनीति नहीं की जानी चाहिए. स्वाति मालीवाल के मसले पर पार्टी के भीतर चर्चा हुई है.

विभव कुमार ने भी की शिकायत

आम आदमी पार्टी ने एक्स पर पोस्ट कर बताया है कि विभव कुमार ने भी स्वाति मालीवाल के खिलाफ सिविल लाइंस SHO को ईमेल के जरिये लिखित शिकायत भेजी है.

इस शिकायत में लिखा है स्वाति मालीवाल ने मुख्यमंत्री आवास में अवैध/अनधिकृत प्रवेश और सुरक्षा भंग किया है. इसके अलावा हंगामा करने और ड्यूटी कर रहे लोकसेवकों के काम में बाधा डालने की भी शिकायत की गई है.

शिकायत में विभव कुमार ने स्वाति मालीवाल के बयानों को गलत बताया है और साथ ही कहा है कि वह गलत नैरेटिव बना रही हैं. इसके साथ ही विभव कुमार ने बिंदुवार तरीके से 13 मई को सीएम आवास में हुई घटना पर अपना पक्ष रखा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×