ADVERTISEMENT

मुरादाबाद: कर्ज नहीं चुकाने पर तहसील कर्मियों ने किसान की पिटाई, केस भी हुआ दर्ज

किसान की पिटाई के बाद तहसील कर्मियों ने उसके खिलाफ पुलिस में कराया मामला दर्ज

Published
भारत
2 min read
<div class="paragraphs"><p>मुरादाबाद तहसील में पिटाई&nbsp;</p></div>
i

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) में किसान क्रेडिट कार्ड से लिया गया पैसा नहीं चुकाने पर एक किसान के साथ जमकर मारपीट के आरोप लगाए गए हैं. बताया गया है कि बकायेदार किसान को तहसील का कलेक्शन स्टाफ घर से उठा लाया और फिर उसकी तहसील परिसर में जमकर पिटाई की गई. यहां किसान को एक कमरे में बंद कर दिया गया.

ADVERTISEMENT

तहसीलदार ने किसान पर लगाए आरोप 

घटना तब सामने आई जब इसका वीडियो वायरल हुआ. वीडियो सामने आने के बाद मुरादाबाद के मंडल आयुक्त आंजनेय कुमार सिंह ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं, वहीं किसान की पिटाई के मामले में मुरादाबाद के तहसीलदार नितिन तेवतिया का कहना है कि किसान पर बैंक के 25 लाख रुपये बकाया चल रहे हैं. जिसकी वजह से उसे तहसील लाया गया था.

तहसीलदार ने सारे आरोप किसान पर लगाते हुए कहा कि तहसील से उसके भाई ने उसे भगाने की कोशिश की, जब कलेक्शन स्टाफ ने रोकने की कोशिश की तो उनके साथ बदसलूकी की गई, इसीलिए उसे गिरफ्तार कर पुलिस के हवाले किया गया है. किसान की कोई पिटाई नहीं की गई है.

वीडियो में पिटाई करते दिख रहे कर्मचारी

हालांकि वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि तहसील परिसर में किसान को किस तरह पीटा गया. किसान का कहना है कि उसने 2019 में 21 लाख रुपये किसान क्रेडिट कार्ड से एचडीएफसी बैंक से लिए थे, लेकिन 2020 और 2021 में कोरोना के कारण सब कुछ बंद हो गया था. जिस वजह से वो बैंक का पैसा नहीं जमा कर सका था, जो ब्याज सहित कुल 25 लाख रुपये थे.

किसान का कहना है कि दो महीने पहले उसने बैंक से वन टाइम सेटेलमेंट किया था और और इसके तहत लगभग साढ़े पांच लाख रुपये जमा भी कर दिए थे, लेकिन अब उसे तहसील का कलेक्शन स्टाफ लगातार परेशान कर रहा है और उसे घर से उठा लिया, जिसके बाद उसे पीटा गया.

ADVERTISEMENT

फिलहाल किसान हरि ओम सिविल लाईन थाने में बंद है. पुलिस ने किसान और उसके दो साथियों पर धारा 332 , 353 , 504 और 506 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है. किसान से कर्ज वसूलने के लिए मारपीट का ये वीडियो लगातार वायरल हो रहा है और लोग सरकारी कर्मियों पर सवाल उठा रहे हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT