ADVERTISEMENT

UP: बेड पर पड़ा था महिला का शव, अस्पताल जांच पर पहुंचे मंत्री ने दिए फल

मंत्री के इंस्पेक्शन के दौरान हुआ हंगामा, शव को छुपाने ढकी चादर, जिला पंचायत सदस्य ने उठाए सवाल

Updated
भारत
2 min read

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के चित्रकूट में इलाज के अभाव में एक महिला की मौत होने की खबर सामने आयी है. बताया जा रहा है कि हॉस्पिटल के डॉक्टर निरीक्षण करने पहुंचे प्रभारी मंत्री की आवभगत में लगे हुए थे.

प्रभारी मंत्री जयवीर सिंह के सामने से शव को छुपाने के लिए, महिला के ऊपर चादर डाल दी गई. बताया जा रहा है कि मंत्री अपनी यात्रा के दौरान फलों का वितरण भी कर रहे थे. यहां तक कि उन्होंने मृत महिला के हिस्से के भी फल वितरित कर दिए.

ADVERTISEMENT

जिला पंचायत सदस्य ने उठाए स्वास्थ्य सेवाओं पर सवाल

मंत्री जी यह नही जान पाए कि वह मरीज मृत अवस्था मे लेटी हुई है. इसी बात को लेकर वहां खड़ी जिला पंचायत सदस्य मीरा भारती ने स्वास्थ्य सेवाओं पर सवाल खड़े करते हुए मंत्री जी के सामने ही विरोध करना शुरू कर दिया और अस्पताल को रेफर सेंटर बताते हुए मंत्री के निरीक्षण पर ही सवाल खड़े करने लगीं.

बताया जा रहा है कि उन्होंने अस्पताल में मिली शराब की बोतल लेकर CMO को दिखा कर कहा कि अस्पताल में दवा नही बल्कि शराब की बोतल मिलती है. वहीं इस मामले में प्रभारी मंत्री मामले की मजिस्ट्रियल जांच कराने की बात कहकर वहां से निकल गए.

जिला पंचायत सदस्य मीरा भारती ने शराब की बोतलें दिखाते हुए कहा कि अस्पताल की छत पर यह दारु की बोतलें भरी पड़ी हैं. मीरा भर्ती में महिला की मौत के लिए अस्पताल को जिम्मेदार ठहराया.

जिला पंचायत सदस्य मीरा भारती एक दलित नेता हैं और इलाके में दलितों के संघर्ष के लिए लड़ाई के लिए जानी जाती हैं. मीरा भारती के शोर शोराबा करने के बाद ही चित्रकूट जिला अस्पताल के डॉक्टर्स ने महिला को चेक करना शुरू किया, लेकिन तब तक महिला की मौत हो चुकी थी. मीरा भारती यह भी आरोप लगाया है कि अस्पताल में पीने का पानी भी नहीं मिलता है बाहर से बोतल खरीदना पड़ता है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और india के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Uttar Pradesh 

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×