ADVERTISEMENTREMOVE AD

Kanpur: BJP नेता नूपुर शर्मा के बयान पर बंद का आह्वान, कानपुर में भड़की हिंसा

BJP प्रवक्ता नूपुर शर्मा के टीवी डिबेट के दौरान मोहम्मद साहब पर टिप्पणी किए जाने से नाराज था मुस्लिम संगठन.

Updated
न्यूज
3 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा

कानपुर के यतीम खाने में दुकान बंदी को लेकर पत्थरबाजी हुई है. बताया जा रहा है कि मुस्लिम संगठन ने बाजार बंद बुलाया था. इस दौरान जमकर ईंट-पत्थर चले. फिलहाल, भारी संख्या में पुलिस पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया है. डीएम नेहा शर्मा ने बताया कि अभी स्थिति पर काबू पा लिया गया है. पत्थरबाजी हुई है, जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. क्योंकि, ये कानून व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश थी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD
BJP प्रवक्ता नूपुर शर्मा के टीवी डिबेट के दौरान मोहम्मद साहब पर टिप्पणी किए जाने से नाराज था मुस्लिम संगठन.

बताया जा रहा है कि कानपुर में सामाजिक संस्था की तरफ से मुस्लिम इलाकों की बंदी के ऐलान पर परेड चौराहे पर हजारों की संख्या में लोग एकत्र हुए थे. ये लोग बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के टीवी डिबेट के दौरान पैगंबर इस्लाम मोहम्मद साहब पर टिप्पणी किए जाने से नाराज थे.

कानपुर सीपी विजय मीणा ने बताया कि 15 से 16 लोग हिरासत में लिए गए हैं, जबिक दो लोग घायल हुए हैं.

जानकारी के मुताबिक, यह बाजार बंद जफर हयात हाशमी की ओर से बुलाया गया था. वहीं, दूसरा पक्ष बाजार बंद करने के पक्ष में नहीं था. जुमे की नमाज के बाद हुए बवाल के बाद 25 थानों की फोर्स के साथ आला अधिकारी मौके पर पहुंचे थे. अब तक 17 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यह कार्रवाई सीसीटीवी फुटेज के आधार पर करने की बात कही जा रही है.

यूपी ADG लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि नूपुर शर्मा के बयान पर मुस्लिम संगठनों ने बंद का आह्वान किया था. नमाज के बाद कुछ लोगों ने गैर संप्रदाय के लोगों की दुकानों को जबरदस्ती बंद कराने की कोशिश की जिस को लेकर विरोध और फिर पत्थरबाजी हुई. स्थिति अभी नियंत्रण में है. बवालियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.

0

बता दें, कानपुर के बेकनगंज इलाके में जुमे की नमाज के बाद बवाल हो गया. बाजार बंद कराने के ऐलान में दो पक्षों में पथराव हुआ. बवाल नियंत्रित करने पहुंची पुलिस पर भी लोगों ने पत्थर फेंके. ये मिश्रित आबादी वाला इलाका है, इसलिए माहौल तनावपूर्ण हो गया.

इस मामले की शुरुआत मुस्लिम नेता हयात जफर हाश्मी के बाजार बंद आह्वान से हुआ थी. दरअसल, बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के टीवी डिबेट के दौरान पैगंबर मुहम्मद साहब पर टिप्पणी किए जाने से मुस्लिम समाज नाराज था. शुक्रवार को बाजार बंद भी कराए गए. परेड चौराहा पर सैकड़ों लोग इकट्‌ठा हुए थे. दोपहर करीब 3 बजे दो पक्ष के लोग आमने-सामने आ गए. जिसके बाद पथराव शुरू हुआ. इसमें कई लोग घायल हो गए हैं. उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस ने लाठीचार्ज किया, फिर भी पथराव जारी

पुलिस ने लोगों को नियंत्रित करने के लिए कई राउंड फायर की. लाठीचार्ज किया गया. लोगों को गलियों में खदेड़ दिया गया. फिर भी लोग रुक-रुककर पथराव कर रहे हैं. पुलिस ने पूरे एरिया की घेराबंदी कर दी है. संदेह के आधार पर कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है. फिलहाल, कानपुर में तनाव का माहौल बना हुआ है. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए करीब 12 थानों की फोर्स मौके पर पहुंची है.

VHP नेता भी मौके पर पहुंचे

बजरंग दल के नेता प्रकाश शर्मा और विहिप नेता मौके भी पहुंचे हैं. हालांकि, उन्हें पुलिस ने तनाव वाले एरिया से पहले ही रोका लिया है.

बवाल के बाद कानपुर के काफी बाजार भी बंद

वहीं, इस बवाल के बाद कानपुर के दूसरे बाजारों में भी दुकानें बंद करवा दी गई हैं. बाजारों में सन्नाटा छा गया है. एहतियातन शहर के दूसरे बाजारों में भी पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है. ताकि, हिंसा को एक इलाके तक ही सीमित रखा जा सके.

CCTV की मदद से बवाल करने वालों की हो रही पहचान

पुलिस पूरी मजबूती से बवाल के पीछे के चेहरों को पहचान कर रही है. सीसीटीवी की मदद से पथराव करने वालों की पहचान की जा रही है. बवाल करने वालों को नियंत्रित करने के लिए आरएएफ तैनात की गई है.

DGP UP को मौके पर पहुंचने के निर्देश

कानपुर में हुए बवाल के बीच CM योगी आदित्यनाथ ने आदेश जारी किया है. अब दोषियों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा और डीजीपी डीएस सिंह चौहान को कानपुर पहुंचने के निदेश दिए गए हैं.

इनपुटः विवेक मिश्रा

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×