ADVERTISEMENTREMOVE AD

Mumbai Dust Storm: मुंबई में आंधी-तूफान से मचा कोहराम, अब तक 8 की मौत

Mumbai hoarding collapse: राज्य सरकार ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं.

Updated
न्यूज
2 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा

Mumbai Dust Storm: मुंबई में आए आंधी-तूफान ने कोहराम मचा दिया. देश की आर्थिक राजधानी के घाटकोपर में सोमवार, 13 मई की शाम तेज धूल भरी आंधी के बीच एक पेट्रोल पंप पर लोहे का विशाल बिलबोर्ड गिर गया. पुलिस ने कहा कि इस हादसे में आठ लोग मारे गए और 59 घायल हो गए. अभी भी 30-35 लोगों के मलबे के नीचे दबे होने की सूचना है जिनको निकालने की कोशिशें जारी हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

यह बिलबोर्ड पेट्रोल पंप के ठीक सामने था. आंधी-तूफान के बीच यह अचानक गिर गया. अधिकारी यह जांच कर रहे हैं कि बिलबोर्ड विज्ञापन एजेंसी को यह संरचना लगाने की अनुमति थी या नहीं.

लोहे के बने होर्डिंग ने पेट्रोल पंप पर मौजूद कई कारों के ऊपरी हिस्से को तोड़ दिया. राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की टीम घटनास्थल पर है और मलबे में फंसे लोगों की तलाश कर रही है. घायलों को राजावाड़ी और एचबीटी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

घाटकोपर होर्डिंग गिरने के हादसे पर BMC कमिश्नर भूषण गगरानी ने कहा,

"होर्डिंग के नीचे 30-35 और लोगों के फंसे होने की आशंका है. हादसे में कुल 8 लोगों की मृत्यु हो गई है. बचाव कार्य चल रहा है."

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कमिश्नर भूषण गगरानी का कहना है कि होर्डिंग अवैध थी क्योंकि बीएमसी ने इसे लगाने की अनुमति नहीं दी थी. रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा;

“घाटकोपर में गिरी होर्डिंग अवैध थी क्योंकि उसको लगाने का लाइसेंस नहीं था. हम मुंबई में सभी होर्डिंग्स के लाइसेंस की जांच करेंगे और अगर उनके पास लाइसेंस नहीं है तो उन्हें अवैध माना जाएगा"

राज्य सरकार ने दिए जांच के आदेश

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा कि राज्य सरकार ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं.

राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख के आर्थिक अनुदान देने की बात कही है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा,

"यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. रेस्क्यू टीम मौके पर काम कर रही है. लगभग 57 फंसे हुए लोगों को बाहर निकाला गया है जिनको अस्पताल में भर्ती कराया गया है... घायलों के इलाज का खर्चा सरकार द्वारा किया जाएगा और मृतकों के परिजनों को मुख्यमंत्री सहायता निधि से 5 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा."

आंधी-तूफान से हिल गई मुंबई

तेज धूल भरी आंधी से मुंबई बुरी तरह प्रभावित हुई. ट्रैफिक बाधित हो गया, कई पेड़ उखड़े. वित्तीय राजधानी के कई जिलों में बिजली गुल हो गई. जब शहर में धूल भरी आंधी आई तो आसमान में अंधेरा छा गया जिसके वीडियो लोगों ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किए.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) मुंबई ने ठाणे, पालघर और मुंबई में बिजली गिरने और मध्यम से तीव्र बारिश के साथ तूफान की भविष्यवाणी जारी की थी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×