ADVERTISEMENTREMOVE AD

"AAP पंजाब की सभी 13 सीटें जीतेगी"- कांग्रेस के साथ सीट शेयरिंग बातचीत के बीच CM मान

'आप' और कांग्रेस ने चंडीगढ़ में मेयर पद के लिए सहयोगी के रूप में चुनाव लड़ने के लिए गठबंधन किया है.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

कांग्रेस और 'AAP' में सीट बंटवारे पर बातचीत के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान (Bhagwant Mann) ने बुधवार, 17 जनवरी को कहा कि उनकी पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव में पंजाब की सभी 13 संसदीय सीटों पर चुनाव लड़ेगी. मान ने स्पष्ट रूप से कहा कि 'आप' पंजाब में अकेले चुनाव लड़ेगी. मान ने कहा कि,''पंजाब में इतिहास रचा जाएगा क्योंकि 'आप' सभी 13 सीटें जीतेगी. यह राज्य सरकार की जन-समर्थक नीतियों के पक्ष में फैसला होगा और लोग पंजाब विरोधी रुख के लिए विपक्ष को बुरी तरह नकार देंगे.''

ADVERTISEMENTREMOVE AD

चंडीगढ़ मेयर पद के लिए गठबंधन करेगी 'आप और कांग्रेस'

विपक्षी दलों के गठबंधन- इंडिया ब्लॉक का लक्ष्य बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए से मुकाबला करना है. यह गठबंधन वर्तमान में सीट बंटवारे पर बातचीत में लगा है. 'AAP' भी इसमें एक घटक दल है और उनका वरिष्ठ नेतृत्व फिलहाल पंजाब और दिल्ली में सीट बंटवारे को अंतिम रूप देने के लिए कांग्रेस के साथ बातचीत कर रहा है.

दिलचस्प बात यह है कि 'आप' और कांग्रेस ने इस सप्ताह चंडीगढ़ में 18 जनवरी को मेयर पद के लिए सहयोगी के रूप में चुनाव लड़ने के लिए गठबंधन किया है.

'आप' उम्मीदवार कुलदीप कुमार टीटा मेयर पद के लिए चुनाव लड़ेंगे, जबकि कांग्रेस के गुरप्रीत सिंह गैबी और निर्मला देवी क्रमशः वरिष्ठ डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर पद के लिए चुनाव लड़ेंगे.

गुरपतवंत सिंह पन्‍नू की धमकी पर क्‍या बोले मान?

खालिस्तानी आतंकवादी गुरपतवंत सिंह पन्नून की गणतंत्र दिवस पर उनकी और डीजीपी गौरव यादव की हत्या की धमकी पर प्रतिक्रिया देते हुए मान ने कहा कि वह राज्य की शांति, प्रगति और समृद्धि के संरक्षक हैं और ऐसी मध्यस्थता उन्हें इस नेक काम से नहीं रोक सकती.

0

मुख्यमंत्री ने कहा, "इस तरह की धमकियां पंजाब विरोधी ताकतों के नापाक मंसूबों को नाकाम करने के लिए राज्य द्वारा अपनाई गई जीरो-टॉलरेंस पॉलिसी का स्वाभाविक परिणाम हैं."

उन्होंने कहा कि ये लोग कड़ी मेहनत से हासिल की गई शांति को भंग करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन उनकी सरकार इन ताकतों को उनके नापाक मंसूबों में कामयाब नहीं होने देगी.

मुख्यमंत्री ने कहा, ''पंजाब एक सीमावर्ती राज्य है और राज्य के भीतर और बाहर दोनों तरफ से ऐसी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है. हम धमकियों के आगे न झुककर इसका बहादुरी से सामना करेंगे.''

उन्होंने कहा कि ऐसे पंजाब विरोधी रुख के मास्टरमाइंड्स ने विदेशों में शरण ले रखी है लेकिन हम उन्हें वापस लाने और उनके पापों के लिए दंडित करने की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि जो देश ऐसे खूंखार अपराधियों को पनाह देते हैं, उन्हें विश्व शांति के व्यापक हित में इन कट्टर अपराधियों को वापस भेज देना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार को भी ऐसे खूंखार राष्ट्रविरोधी अपराधियों को देश में वापस लाने और उन्हें देश के कानून के अनुसार दंडित करने के लिए कदम उठाना चाहिए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×