अयोध्या फैसले पर बोले ओवैसी- ‘नहीं चाहिए 5 एकड़ जमीन की खैरात’

अयोध्या फैसले पर बोले ओवैसी- ‘नहीं चाहिए 5 एकड़ जमीन की खैरात’

पॉलिटिक्स

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि वो इस फैसले से संतुष्ठ नहीं हैं. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने उन लोगों को ट्रस्ट बनाकर मंदिर निर्माण के लिए कहा है, जिन्होंने बाबरी मस्जिद को गिराने का काम किया था. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट सर्वोच्च जरूर है लेकिन अचूक नहीं है.

ये भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट ने हिंदुओं को किस आधार पर दी विवादित जमीन?

Loading...

ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कहा,

“जिन्होंने बाबरी मस्जिद को गिराया था, आज उन्हीं को सुप्रीम कोर्ट कह रहा है कि आप ट्रस्ट बनाकर वहां मंदिर बनाने का काम शुरू करें. मेरा कहना है कि अगर बाबरी मस्जिद नहीं गिराई जाती है तो आज सुप्रीम कोर्ट क्या फैसला देता ?”

‘हमें भीख की जरूरत नहीं’

ओवैसी ने कहा कि अगर मुसलमान वाकई में कमजोर है, तो इसे कोई नकार नहीं सकता है. लेकिन हिंदुस्तान का मुस्लिम इतना गया गुजरा नहीं है कि पांच एकड़ जमीन के लिए पैसा नहीं जुटा सकता है. हमें किसी की खैरात नहीं चाहिए. हमें किसी से भीख की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि मुस्लिम पक्ष को पांच एकड़ जमीन वाले आदेश को रिजेक्ट कर देना चाहिए.

ये भी पढ़ें : अयोध्या फैसले पर भागवत- अतीत भूलकर मिलकर मंदिर निर्माण में जुटें

ओवैसी ने बीजेपी और संघ परिवार पर निशाना साधते हुए कहा, संघ परिवार अयोध्या से शुरूआत कर रही है और एनआरसी जैसे मुद्दों से हिंदू राष्ट्र बनाने की कोशिश कर रहा है. मैं लोगों से कहना चाहता हूं कि इस देश में कई बड़ी चीजें होने वाली हैं. कोर्ट ने माना है कि एएसआई की रिपोर्ट में नहीं कहा गया कि वहां मस्जिद नहीं थी. लेकिन कोर्ट ने ये भी माना है कि मुस्लिम वहां नमाज पढ़ते थे.

ये भी पढ़ें : अयोध्या पर आया ‘सुप्रीम’ फैसला: किसने क्या कहा? यहां जानिए

(हैलो दोस्तों! WhatsApp पर हमारी न्यूज सर्विस जारी रहेगी. तब तक, आप हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Follow our पॉलिटिक्स section for more stories.

पॉलिटिक्स

वीडियो

Loading...