ADVERTISEMENT

‘बकलोली छोड़ा देंगे’,सुशील मोदी के ट्वीट पर लालू की बेटी का गुस्सा

बीजेपी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने लालू परिवार पर निजी हमला किया है

Published
सुशील कुमार के ट्वीट पर रोहिणी का जवाब
i

बिहार में कोरोना महामारी के बढ़ते असर को देखते हुए आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने अपने सरकारी आवास पर कोविड केयर सेंटर खोला है. इस कोविड सेंटर को लेकर बीजेपी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने लालू परिवार पर निजी हमला किया है. सुशील कुमार मोदी ने तेजस्वी यादव की बहनों को लेकर सवाल उठाया है.

उन्होंने ट्विटर पर पूछा कि तेजस्वी यादव के परिवार में दो बहनें एमबीबीएस डाक्टर हैं. कोरोना संक्रमण के दौर में उनकी सेवाएं क्यों नहीं ली गईं. अब सुशील कुमार मोदी के इसी ट्वीट पर तेजस्वी यादव की बहन और लालू की बेटी रोहिणी आचार्य काफी नाराज हो गई हैं. उन्होंने एक बाद एक ट्विटकर सुशील मोदी पर हमला बोला है.

रोहिणी आचार्य ने कहा,

आज के बाद मेरी बहनो पे ई भगोड़ा बोला ना तो बताना मुझे, इसकी बकलोली ना छुड़ा दिए तब देखना. 

सुशील मोदी ने एक के बाद एक4 ट्वीट किए थे. उन्होंने ट्वीट में कहा,

तेजस्वी प्रसाद यादव को सरकारी आवास के बजाय अवैध तरीके से पटना में अर्जित दर्जनों मकानों में से किसी को कोविड अस्पताल बनाना चाहिए था, जहां गरीबों का मुफ्त में इलाज होता.

इसके जवाब में रोहिणी आचार्य ने कहा,

सरकारी आवास इनके पिता की है जो आग लग रही है, कान खोल कर सुन लीजिए ये जनता की दी हुई है जो मेरा भाई जनता के नाम समर्पित कर सेवा करना चाह रहा है, तुम्हारे तरह नहीं की जनता के पैसे पे अपने ऐश कर रहा है जो कि चोर दरवाजा से हर बार हासिल करता है हिम्मत है तो जनता के द्वारा चुन कर आ.

अपने दूसरे ट्वीट में सुशील मोदी ने तेजस्वी की मां और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कांति देवी ने मंत्री बनने के बदले जो दो मंजिला भवन तेजस्वी यादव को गिफ्ट किया था, उसमें या राबड़ी देवी के पास जो 10 फ्लैट बचे हैं, उनमें अस्पताल क्यों नहीं खोला गया?

इसके अलावा उन्होंने तेजस्वी के कोविड केयर सेंटर को भी झूठ बताया है और कहा कि बिना डॉक्टर, उपकरण-स्वास्थ्यकर्मी के किसी परिसर में केवल कुछ बेड लगा देने से अस्पताल नहीं हो जाता. इससे केवल अस्पताल होने का नाटक किया जा सकता है.

अब सुशील मोदी के इन बयानों पर रोहिणी आचार्य समेत आरजेडी के कई नेताओं ने नाराजगी जाहिर की है. रोहिणी ने एक ट्वीट में कहा, “ई सुशील मोदी थेथर है सुधरेगा नहीं..

वहीं आरजेडी सांसद मनोज झा ने सुशील मोदी पर तंज कसते हुए कहा,

मैंने सोचा था कि राज्यसभा में प्रवेश से आपको कुछ उद्देश्य और दिशा का बोध हुआ होगा. काश! काश! काश!

बता दें कि सुशील कुमार मोदी लगातार लालू परिवार को लेकर इस तरह के आरोप लगाते रहते हैं.

सुशील मोदी के ऐसे ट्वीट पर विपक्षी पार्टियों के नेता भी सवाल उठा रहे हैं. शिव सेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने भी सुशील मोदी ने पूछा है, “सुशील जी, पूरे सम्मान के साथ, आपने राज्य में व्यक्तिगत रूप से कितने कोविड देखभाल केंद्रों में योगदान दिया है? कम से कम आप जिस राज्य के हैं, उसके दर्द को कम करने के लिए उनके द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना करें, संकट की घड़ी में अपनी राजनीति से ऊपर उठें.”

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT