ADVERTISEMENT

ममता के गढ़ में बोले अमित शाह-क्या पाकिस्तान जाकर करें दुर्गापूजा?

अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के मालदा में रैली को संबोधित किया और ममता बनर्जी सहित कई विपक्षी नेताओं पर जमकर बरसे 

Updated
ममता के गढ़ में बोले अमित शाह-क्या पाकिस्तान जाकर करें दुर्गापूजा?

पश्चिम बंगाल में रथयात्रा को लेकर लंबी लड़ाई लड़ने के बाद अब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने रैली का सहारा लिया है. अमित शाह ने पश्चिम बंगाल के मालदा में रैली को संबोधित किया और ममता बनर्जी सहित कई विपक्षी नेताओं पर जमकर बरसे. शाह ने कहा कि अगर हमें रथयात्रा की इजाजत नहीं दी जाएगी तो, रैली करेंगे, अगर रैली भी नहीं करने देंगे पैदल घर-घर जाएंगे.

पढ़िए मालदा की रैली में क्या बोले शाह

  • ममता दीदी अगर हमें रथ यात्रा नहीं निकालने देंगी तो हम रैली करेंगे और अगर रैली भी नहीं करने देंगी तो हम पैदल घर-घर जाएंगे
  • हम सिटिजनशिप बिल लाए हैं, एक-एक हिंदू बांग्लादेशी को भारतीय नागरिकता देने वाले हैं, ये सिर्फ मोदी सरकार करने वाली है
  • बंगाल के अंदर दुर्गा विसर्जन की इजाजत नहीं, हम क्या पाकिस्तान जाकर वर्सजन करेंगे?
  • जिस बंगाल में संगीत की गूंज सुनाई पड़ती थी, उसी बंगाल में आज बम के धमाकों की गूंज सुनाई देती है
  • भारतीय जनता पार्टी की रथ यात्रा रोकने से बंगाल की जनता के दिलों में जो कमल खिला है वो खत्म नहीं होगा
  • जिस गठबंधन की रैली में भारत माता की जय का जयकारा ना लगता हो, वंदे मातरम के नारे नहीं लगते हों, वो देश का क्या भला करेंगे?
  • हम चाहते हैं गरीबी हटे, वो चाहते हैं मोदी हटे. हम चाहते हैं भ्रष्टाचार हटे, वो चाहते हैं मोदी हटे
  • ये चुनाव बंगाल के तहत नहीं होने वाला है, भारत के चुनाव आयोग के तहत होने वाला है. हर बूथ पर सुरक्षाबल मौजूद होंगे
  • आप ही लोगों ने कम्युनिस्टों को हटाया है अब आप ही लोगों को तृणमूल को हटाना है
  • हमने बंगाल को ढ़ाई गुना ज्यादा पैसा दिया है, लेकिन आधा सरकार के लोग खा जाते हैं और आधा घुसपैठिए. एक बार यहां कमल खिला दीजिए यहां विदेशी परिंदे तक को पर नहीं मारने देंगे

अमित शाह ने रैली में कहा कि, बंगाल में एक बार कमल खिला दो गाय तस्करी पर लगाम लगा देंगे. सिंडिकेट का टैक्स कहां जाता है? टीएमसी को उखाड़कर फेंक दो किसी को यह टैक्स नहीं देना पड़ेगा. बीजेपी देश के 16 प्रांतों के अंदर शासन कर रही है कहीं भी सिंडिकेट टैक्स नहीं है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT