ADVERTISEMENT

झारखंड में हेमंत सोरेन ने 48-0 से जीता विश्वास मत, BJP का वॉकआउट

Jharkhand Political Crisis: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा- शिबू सोरेन का बेटा हूं. न डरा हूं, न डरूंगा.

Updated
झारखंड में हेमंत सोरेन ने 48-0 से जीता विश्वास मत, BJP का वॉकआउट
i

रोज का डोज

निडर, सच्ची, और असरदार खबरों के लिए

By subscribing you agree to our Privacy Policy

झारखंड में हेमंत सोरेन ने 48-0 से जीता विश्वास मत, BJP का वॉकआउट

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश किया. प्रस्ताव के पक्ष में 48 मत प्राप्त हुए और विपक्ष में शून्य मत प्राप्त हुए. इस दौरान बीजेपी ने सदन से वॉकआउट किया. वोटिंग के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि इस प्रकार वर्तमान सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया है. सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई है.

ADVERTISEMENT

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को जवाब मिलेगा- हेमंत सोरेन

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कहा कि आपको ये सत्र के माध्यम से दिखाना चाहते हैं कि चोरी डकैती, खरीद-बिक्री से काम नहीं चलेगा. पैसे की ताकत नहीं दिखाएं. विधानसभा तो बाद में होगा, लोकसभा में ही इनको जवाब मिल जाएगा.

ADVERTISEMENT

हमने इनके पापों को धोने का काम किया है- हेमंत सोरेन

हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि हमने इनके पापों को धोने का काम किया है. हमने किसानों का कर्ज माफ किया, पुराना पेंशन स्कीम लागू किया. हम बहुत जल्द बेहतर योजना के साथ सुखाड़ पर आगे बढ़ने का काम करने जा रहे हैं.

ADVERTISEMENT

ये वो लोग हैं जो मुंह में राम, बगल में छूरी रखते हैं- हेमंत सोरेन

सीएम सोरेन ने सदन में कहा कि दुमका में अंकिता के परिजनों से मिलने मनोज तिवारी, कपिल शर्मा और निशिकांत दुबे तो पहुंचे, लेकिन अपनी ही पार्टी के सासंद सुनील सोरेन को छोड़ दिया. इनका चेहरा इतना क्रूर है, इसे साफ देखा जा सकता है. ये वही सामंतवादी लोग हैं, वही मनुवादी लोग हैं जिनकी वजह से देश का आदिवासी, दलित, पिछड़ा आगे नहीं आ पा रहा है. ये वो लोग हैं जो मुंह में राम, बगल में छूरी रखते हैं.

ADVERTISEMENT

विधायकों को डरा-धमकाकर सरकार को अस्थिर करने का प्रयास हो रहा है- सोरेन

हेमंत सोरेन ने कहा कि चुनाव आयोग और राज्यपाल के द्वारा 25 अगस्त से ही प्रदेश में इस तरह का माहौल तैयार किया जा रहा है. आयोग कहता है हमने अपना पत्र राज्यपाल को भेज दिया है, राज्यपाल कहते हैं हमको नहीं पता. जब सत्ता पक्ष के विधायक मिलने जाते हैं तब वह स्वीकार करते हैं कि पत्र मिला है. लेकिन राज्यपाल राजभवन के पिछले दरवाजे से दिल्ली चले जाते हैं. विधायकों को डरा-धमकाकर सरकार को अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अकेला हेमंत सोरेन को रोकने के लिए रांची से दिल्ली तक लोग लगे हुए हैं. लेकिन चिंता न करें यह शिबू सोरेन का बेटा है, न डरा है, न डरेगा.

ADVERTISEMENT

ये देश में दंगे करवा कर चुनाव जीतना चाहते हैं– हेमंत सोरेन

हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कह कि इन्होंने दो राज्यों की पुलिस को आपस में लड़वा दिया. देश में गृहयुद्ध की स्थिति पैदा कर दिया. ये देश में दंगे करवा कर चुनाव जीतना चाहते हैं.

ADVERTISEMENT

बीजेपी पर हेमंत सोरेन ने किया चुन-चुनकर वार

विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान हेमंत सोरेन ने कहा कि ना खाएंगे, न खाने देंगे का नारा लगाने वाले इनके आलाकमान किसी का साथ नहीं देते, विकास में साथ नहीं देते, केवल चंद व्यापारियों का साथ देने के लिए पूरे देश को ताख पर रख दिया है. आज ये कहते हैं सरकारें रेवड़ियां बांटने के लिए नहीं है. चंद उद्योगपतियों के कर्ज को माफ करने को रेवड़ियां बांटना कहते हैं.

ADVERTISEMENT

लोकतंत्र के साथ झंडा भी बेचने लगे ये लोग– हेमंत सोरेन

विधानसभा में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बीजेपी पर करारा हमला बोला है. विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि इनके आलाकमान कहते हैं कि हम हवाई चप्पल वाले को हवाई जहाज चढ़ाएंगे, लेकिन उन्होंने सड़कों पर चलने लायक नहीं छोड़ा है. आजादी के अमृत महोत्व के दौरान झंडा लगाने का एजेंडा सेट किया गया. बीजेपी के साथियों ने जिस तरीके से झंडा बेचने का काम किया, लोकतंत्र के साथ झंडा भी बेचने लगे ये लोग.

ADVERTISEMENT

चुनी हुई सरकार को गिराने का प्रयास नहीं होना चाहिए- सरयू राय

विधासनभा में विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान निर्दलीय विधायक सरयू राय ने कहा कि सरकार कोई भी निर्देश देती है, जिलों में लागू नहीं होती है. मेरे मन में भी ये सवाल है कि सदन में विश्वास प्रस्ताव क्यों रखा गया. सदन की कार्रवाही समाप्त हो जाएगा तब ये कहां जाएंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार को अपार बहुमत है, इनकी सरकार पर कहां संकट है. जो चुनी हुई सरकार है उसको गिराने का प्रयास नहीं होना चाहिए. तीन विधायक आज बंगाल में है, वो सदन में नहीं हैं. उन्होंने कुछ किया, उसके कारण अविश्वास पैदा हुआ. तीन के बदले तेरह होने की आशंका थी.

ADVERTISEMENT

चुनी हुई सरकार को भागना पड़ रहा है- विनोद सिंह

सीपीआईएमएल विधायक विनोद सिंह ने कहा कि पिछले 15 दिनों से चुनी हुई सरकार अस्थिर है. चुनी हुई सरकार को तोड़ने की बात स्पष्ट है. राज्य के स्थापना काल से ही यहां सरकारें खरीद- फरोख्त से बनती रही है. खुद बाबूलाल इसके भुक्तभोगी रहे हैं. सरकार के डर से कमजोर लोग भागते रहे हैं, यहां तो चुनी हुई सरकार को भागना पड़ रहा है.

ADVERTISEMENT

बीजेपी पर प्रदीप यादव का करारा वार- पकड़ी गई इनकी चोरी, अब मचा रहे शोर

कांग्रेस विधायक प्रदीप यादव ने विधानसभा में बीजेपी पर करारा वार करते हुए कहा क जिस तरह के चुनावों में इनको जनता ने लताड़ा, ये समझ गए इनके पास केवल विधायक खरीदने के उपाय बचे हैं. ये इनकी नई आदत नहीं है, ये पुरानी आदत है. 2014 में झारखंड विकास मोर्चा के आठ विधायक जीतकर आए थे, किस तरह से बीजेपी के लोगों ने आठ में छह विधायकों को खरीदा, ये मैं नहीं, बाबूबाल मरांडी ने आरोप लगाया था.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 2019 में दो राज्यों मध्यप्रदेश और राजस्थान में बीजेपी की सरकार चली गई. सबने देखा कि किस तरह खरीद- फरोख्त कर एमपी में सरकार गिराई गई. ताजा उदाहरण महाराष्ट्र में देखा गया. ये सत्ता के कितने लोभी हैं, ये इसका प्रमाण है. उसी उदाहरण को ये लागू करना चाहते हैं. इनकी चोरी पकड़ी गई है. चोर शोर भी मचा रहा है और तोड़फोड़ भी.

ADVERTISEMENT

विधानसभा में बीजेपी विधायकों का विरोध-प्रदर्शन

झारखंड विधानसभा के विशेष सत्र का हंगामेदार आगाज हुआ. बीजेपी विधायकों ने सत्र शुरू होते ही विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. हाथों में तख्तियां लेकर बीजेपी विधायकों ने जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शन में अनंत ओझा, भानू प्रताप शाही, नवीन जायसवाल सहित कई विधायक शामिल रहे.

ADVERTISEMENT

हेमंत हैं तो विश्वास है- सुदिव्य कुमार सोनू

JMM विधायक सुदिव्य कुमार सोनू ने कहा कि जनता ने नारा दिया था हेमंत है तो हिम्मत है, आज मैं ये नारा देता हूं हेमंत है तो विश्वास है. बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि पर्दे के पीछे छुपकर चुनी हुई सरकार को अपदस्थ करने की कोशिश हो रही है. आपको एक आदिवासी मुख्यमंत्री नहीं पच रहा है. जिन सवालों को लेकर आए थे, उनका जवाब देकर जाएंगे. इसके साथ ही सुदिव्य कुमार ने कहा कि अंग्रेजों के तलवे चाटनेवाले आज भेष बदल कर बैठे हैं.

ADVERTISEMENT

झारखंड का सियासी समीकरण

झारखंड विधानसभा में कुल 81 सीटें हैं. हेमंत सोरेन के साथ में 50 विधायक माने जा रहे हैं. लेकिन इसमें से कांग्रेस के 3 विधायक अभी जमानत की शर्त के चलते कोलकाता में हैं. ऐसे में सोरेन के पास विधायकों की संख्या 47 है. वहीं विपक्ष के पास विधायकों की कुल संख्या 31 मानी जा रही है. जिसमें बीजेपी के पास 26 विधायक हैं लेकिन इनमें से एक विधायक अभी हैदराबाद में हैं. ऐसे में बीजेपी के 25 विधायक, AJSU के 2 और 2 निर्दलीय विधायक हैं. ये संख्या 30 होती है. अब 1 विधायक NCP के बचते हैं जो हेमंत सोरेन से नाराज बताए जा रहे हैं. ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि इनका वोट भी बीजेपी के साथ जा सकता है. और इस तरह कुल विधायकों की संख्या 31 हो जाती है.

ADVERTISEMENT

सीएम हेमंत सोरेन ने की मंत्री-विधायकों के साथ बैठक

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विधानसभा के विशेष सत्र को लेकर सरकार के मंत्री और विधायकों के साथ बैठक की. मीटिंग में विश्वास प्रस्ताव को लेकर चर्चा हुई. बैठक की तस्वीरें भी सामने आई है.

सीएम हेमंत सोरेन ने की मंत्री-विधायकों के साथ बैठक

(फोटो: क्विंट)

ADVERTISEMENT

बीजेपी ने बना रखी है गृहयुद्ध की स्थिति- हेमंत सोरेन

झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो गया है. सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि बीजेपी ने गृहयुद्ध की स्थिति बनाकर रखा है. हमने सब्जी खरीदने की बात सुनी है, लेकिन विधायक खऱीद-फरोख्त की बात केवल बीजेपी को करते देखा, सुना है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार की छवि खराब करते हैं, अस्थिर करने का काम करते हैं

ADVERTISEMENT

महागठबंधन की सरकार आज सदन में पेश करेगी विश्वास प्रस्ताव

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) के नेतृत्व वाली महागठबंधन की सरकार आज सदन में विश्वास प्रस्ताव पेश करेगी. सदन के नेता हेमंत सोरेन वर्तमान राजनीतिक परिस्थिति के बीच विश्वासमत हासिल करने का प्रस्ताव सदन में पेश करेंगे.

ADVERTISEMENT

झारखंड (Jharkhand) में जारी सियासी घमासान (Political Turmoil) के बीच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने आज विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है. सोरेन सरकार विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पेश करेगी. सत्ताधारी यूपीए के सभी विधायकों को रविवार शाम को ही छत्तीसगढ़ के रायपुर से रांची वापस बुला लिया गया था. इन विधायकों के साथ रविवार शाम को सीएम हेमंत सोरेन ने बैठक भी की. झारखंड विधानसभा के विशेष सत्र से जुड़े पल-पल के अपडेट्स के लिए बने रहें क्विंट हिंदी के साथ.

(इनपुट- आनंद दत्ता)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
500
1800
5000

or more

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
मेंबर बनने के फायदे
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें
×
×