किसान प्रदर्शनों के बीच पीएम मोदी और दुष्यंत चौटाला की मुलाकात

गृहमंत्री अमित शाह के साथ बैठक में दोनों दलों के प्रदेश अध्यक्ष भी बुलाए गए थे.

Published
किसान प्रदर्शनों के बीच पीएम मोदी और दुष्यंत चौटाला की मुलाकात
i

किसान कानूनों के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के बीच हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की है. मंगलवार को चौटाला ने गृहमंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात की थी. शाह के साथ बैठक में राज्य के सीए मनोहर लाल खट्टर भी शामिल थे, ये करीब डेढ़ घंटे चली.

ये बैठकों का दौर और मुलाकातों का सिलसिला ऐसे समय में चल रहा है जब किसान आंदोलन की वजह से सियासी गलियारों में बीजेपी-जेजेपी सरकार के भविष्य को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं. शाह के साथ बैठक में दोनों दलों के प्रदेश अध्यक्ष भी बुलाए गए थे.

सरकार पर कोई खतरा नहीं, कार्यकाल पूरा करेगी: खट्टर

मंगलवार को बैठक खत्म होने के बाद गृहमंत्रालय के बाहर मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि विपक्ष भले ही तमाम अटकलें लगाता रहे, लेकिन हरियाणा में उनकी सरकार कार्यकाल पूरा करेगी.

मनोहर लाल का यह बयान इसलिए भी खास है, क्योंकि किसान आंदोलन के कारण जेजेपी पर सरकार से समर्थन वापसी के लिए लगातार किसान नेताओं का दबाव पड़ रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान आंदोलन का हरियाणा केंद्र बिंदु बन चुका है, इस नाते आज पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने गृहमंत्री से मिलकर विभिन्न विषयों पर बात की. किसानों ने 26 जनवरी के दिन ट्रैक्टर परेड का ऐलान किया है.

किसान कानूनों के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन के बीच हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की है. मंगलवार को चौटाला ने गृहमंत्री अमित शाह के साथ मुलाकात की थी. गृहमंत्री अमित शाह के साथ चली बैठक में गणतंत्र दिवस समारोहों को बगैर किसी बाधा के आयोजित करने से जुड़ीं तैयारियों को लेकर भी चर्चा हुई. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मीडिया से कहा, "गणतंत्र दिवस किसी पार्टी का नहीं, बल्कि सबका है. इसमें सबको सहयोग करना चाहिए. मीटिंग में गणतंत्र दिवस के आयोजन को लेकर भी चर्चा हुई."

बता दें कि कृषि कानूनों को लेकर हरियाणा में किसानों की नाराजगी लगातार बढ़ रही है. हाल ही में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की राज्य में एक किसान सभा भी किसानों ने नहीं होने दी थी. सभास्थल पर उपद्रव के कारण मुख्यमंत्री की सभा नहीं हो पाई थी. सहयोगी जेजेपी के कुछ नेता भी किसान आंदोलन का समर्थन कर चुके हैं, जिससे गठबंधन को लेकर अटकलें लग रही हैं. किसान आंदोलन के मसले पर इससे पूर्व भी मुख्यमंत्री मनोहर लाल की गृहमंत्री शाह के साथ बैठक हो चुकी है.

गृहमंत्री के साथ आज हरियाणा के दोनों शीर्ष नेताओं की बैठक इसलिए भी बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस बैठक में कोर्ट के फैसले और किसानों के रुख पर चर्चा हुई. किसान नेताओं ने फिलहाल आंदोलन खत्म न करने का फैसला किया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!