ADVERTISEMENTREMOVE AD

2022 तक बिहार होगा विकसित राज्यों की कतार में, पीएम ने जताया भरोसा

शत्रुघ्न, यशवंत सिन्हा और लालू यादव का नाम समारोह में शामिल होने के लिए बुलाए गए गेस्ट लिस्ट में नहीं है

Updated
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
स्नैपशॉट
  • 20 यूनिवर्सिटीज के लिए 10 हजार करोड़ के फंड देने की योजना
  • प्रदर्शन के आधार पर फंड का फैसला लिया जाएगा
  • 2022 तक बिहार को समृद्ध राज्य बनाना है: पीएम मोदी
  • नीतीश कुमार ने पटना यूनिवर्सिटी को केंद्रीय यूनिवर्सिटी बनाने की मांग की थी
  • पटना यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में पहुंचे पीएम मोदी
  • पटना एयरपोर्ट पर सीएम नीतीश ने गुलाब से किया था स्वागत
  • मोकामा में पीएम ने 3700 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास किया.

राजनीतिक सहयोगी बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहली बार एक साथ मंच पर आए. मौका था पटना विश्वविद्यालय का शताब्दी समारोह का. मंच से ही नीतीश कुमार ने पटना यूनिवर्सिटी को सेंट्रल यूनिवर्सिटी बनाए जाने की मांग की.

लेकिन पीएम ने इससे अलग, यह घोषणा कर दी कि अगले पांच साल में देश के चुनिंदा 20 यूनिवर्सिटीज के लिए 10 हजार करोड़ के फंड देने की योजना है. इसका फैसला यूनिवर्सिटीज के प्रदर्शन के आधार पर लिया जाएगा.

पीएम मोदी शनिवार को एक दिन के दौरे पर बिहार पहुंचे. एयरपोर्ट पर उनका स्वागत नीतीश कुमार ने गुलाब के साथ किया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

प्रधानमंत्री के बिहार दौरे को लेकर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे. प्रधानमंत्री की सुरक्षा को लेकर पुलिस महानिदेशक पी़ के ठाकुर ने पुलिस मुख्यालय में सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की. पुलिस मुख्यालय के मुताबिक, पटना से मोकामा तक 3500 से ज्यादा अतिरिक्त पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था. इसके अलावा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ ) और स्पेशल फोर्सेज को भी लगाया गया है.

मोकामा में प्रधानमंत्री ने कई बड़ी योजनाओं का शिलान्यास किया. इनमें नमामि गंगे और नेशनल हाइवे से संबंधित कई प्रोजेक्टस हैं.

शत्रुघ्न, यशवंत, लालू प्रसाद को नहीं मिला न्योता

शत्रुघ्न सिन्हा, यशवंत सिन्हा और लालू प्रसाद यादव का नाम यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में शामिल होने के लिए बुलाए गए गेस्ट की लिस्ट में शामिल नहीं किया गया. शत्रुघ्न सिन्हा जो यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र रहे हैं, उन्होंने इस पर नाराजगी जताई है. ये यूनिवर्सिटी शत्रुघ्न सिन्हा के संसदीय क्षेत्र पटना साहिब में ही पड़ता है.

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा है कि इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले गेस्ट की सूची से न केवल उनका नाम गायब है, बल्कि यशवंत सिन्हा और आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद का भी नाम सूची में शामिल नहीं है, जो पटना विश्वविद्यालय के मशहूर छात्रों में शामिल हैं.

ये पूछे जाने पर कि क्या उनका नाम जानबूझकर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में पार्टी लाइन से हटकर उनकी बेबाक टिप्पणियों के कारण नहीं शामिल नहीं किया गया, शत्रुघ्न ने कहा कि ऐसा हो सकता है.

इस समारोह के दौरान प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान और केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद उपस्थित रहे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×