ADVERTISEMENTREMOVE AD

12 घंटे दौड़ता रहा राजस्थान का एक निर्दलीय विधायक, 108 किलोमीटर की दूरी नापी

पक्ष-विपक्ष सबने दौड़ रोकने की गुजारिश की लेकिन नहीं माने बलजीत यादव

Updated
छोटा
मध्यम
बड़ा

राजस्थान (Rajasthan) में अपनी मांग मनवाने के लिए एक निर्दलीय विधायक ने अनोखा तरीका निकाला. बहरोड़ के निर्दलीय विधायक बलजीत यादव भर्ती परीक्षाओं में गड़बड़ियों के विरोध में लगातार 12 घंटे तक दौड़ते रहे. बलजीत यादव ने गुरुवार, 24 मार्च को विधानसभा में अपने इस संकल्प का ऐलान किया था कि सरकार भर्ती परीक्षाओं और बेरोजगारों को नौकरी देने में कोताही बरत रही है और इसके विरोध में वे शुक्रवार को काले कपड़े पहन कर सूरज उगने से डूबने तक दौड़ेंगे.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

"विधानसभा में बोलने के बाद भी सरकार कार्रवाई नहीं कर रही"

यादव ने अपने दौड़ पूरी होने के बाद कहा कि यह कदम उन्होंने अपने आप को सजा देने के लिए उठाया है. उन्होंने कहा कि हम कानून को मानने वाले हैं,किसी को गोली मार नहीं सकते और कायर हैं नहीं जो सुसाईड कर लें,सरकारें बदलती रहती हैं,लेकिन विधानसभा में सुनवाई होती नहीं है,इसलिए उन्होंने राज्य के युवाओं के प्रति हो रहे अन्याय पर अपना रोष जाहिर करने के लिए स्वयं को कष्ट देने का फैसला लिया.

यादव ने कहा कि मैंने तमाम कोशिशें की हर सेशन में मामले को उठाया कि बेरोजगारों के साथ अन्याय हो रहा है विधानसभा में बोलने के बाद भी सरकार कार्रवाई नहीं कर रही है.

23 राज्यों में राजस्थान के युवाओं को नौकरी नहीं मिलतीं. इसके लिए केंद्र सरकार कानून बनाए और राजस्थान के बेरोजगारों के हकों की रक्षा हो. उन्होंने कहा कि लंबे समय तक या तो भर्तियां नहीं निकलतीं, निकलती हैं तो पेपर लीक हो जाते हैं या अफसरों की लापरवाही से परीक्षाएं हाईकोर्ट में अटक जाती हैं.

0

पक्ष-विपक्ष सबने दौड़ रोकने की गुजारिश की लेकिन नहीं माने बलजीत यादव

विधायक शुक्रवार अपने समर्थकों के साथ सेंट्रल पार्क पहुंचे और उन्होंने सुर्योदय से सुर्यास्त तक लगातार 12 घंटे तक 25 राउंड में 108 किलोमीटर की दौड़ पूरी की. दौड़ लगा रहे बलजीत को रोकने के लिए पक्ष विपक्ष विधायक सेंट्रल पार्क पहुंचे और उनके उठाए गए मुद्दों के प्रति समर्थन जताते हुए उनसे दौड़ रोकने की गुजारिश की,लेकिन बलजीत नहीं माने और दौड़ जारी रखी.

जलदाय मंत्री महेश जोशी, रतनगढ़ से बीजेपी विधायक अभिनेष म​हर्षि, उप-मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी और उप-नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ बलजीत यादव को रोकने पहुंचे. जोशी तो उन्हें मनाने के लिए ट्रैक पर ही बैठ गए,लेकिन बलजीत भी दौड़ते रहने की जिद्द पर अड़े रहे.

हालांकि, बलजीत के समर्थकों ने जोशी सहित अन्य नेताओं को विश्वास दिलाया कि यदि उनकी तबियत थोड़ी भी खराब हुई तो वह तुरंत दौड़ रुकवा देगें. उधर सदन में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने चिंता जताई और कहा कि यदि बलजीत की तबियत खराब हो जाए तो पुलिस के जरिए उनको तुरंत रोका जाना चाहिए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×