ADVERTISEMENTREMOVE AD

Rajya Sabha Election: हार का कारण बने कांग्रेस-BJP के 'विभीषण', हो रही कार्रवाई

Rajya sabha election result: बीजेपी ने क्रॉस वोटिंग करने वाली विधायक शोभारानी कुशवाह को सस्पेंड कर दिया है.

Updated
छोटा
मध्यम
बड़ा
ADVERTISEMENTREMOVE AD

राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha Election) की सरगर्मियां थम गई हैं. चार राज्यों में हार-जीत का फैसला भी हो गया है. लेकिन इस चुनाव में बीजेपी-कांग्रेस को अपनों ने ही बड़ा झटका दिया है. राजस्थान (Rajasthan) में जहां बीजेपी विधायक शोभारानी कुशवाह (Shobharani Kushwah) ने क्रॉस वोटिंग की. तो वहीं, हरियाणा (Haryana) में कुलदीप बिश्नोई (Kuldeep Bishnoi) के वोट ने पूरा समीकरण बदल दिया. कर्नाटक में JDS को भीरतरघात का सामना करना पड़ा है.

शोभारानी कुशवाह ने बिगाड़ा बीजेपी का खेल

राजस्थान में बीजेपी को जो डर था वही हुआ, विधायक शोभारानी (Shobharani Kushwah) ने क्रॉस वोटिंग कर पार्टी में खलबली मचा दी. धौलपुर विधायक ने बीजेपी के घनश्याम तिवाड़ी को वोट न देकर कांग्रेस के प्रमोद तिवारी को वोट दे दिया. इस एक वोट से पूरा समीकरण बदल गया और प्रमोद तिवारी चुनाव जीत गए.

वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) खेमे की विधायक मानी जाने वाली शोभारानी कुशवाह पिछले कुछ दिनों से पार्टी से नाराज चल रही थीं. वह पार्टी के किसी भी कार्यक्रम में शामिल भी नहीं हो रही थीं. शोभारानी के पति बीएल कुशवाह इस वक्त जेल में हैं.

पार्टी ने किया निलंबित

बीजेपी हाईकमान ने राजस्थान में क्रॉस वोटिंग पर नाराजगी जताई है. पार्टी हाईकमान ने तत्काल प्रदेश अध्यक्ष से पूरे मामले में रिपोर्ट तलब की और क्रॉस वोटिंग करने वालीं विधायक शोभारानी कुशवाह को पार्टी से सस्पेंड कर दिया है. वहीं पूरे मामले में 7 दिन के भीतर जवाब भी मांगा है.

कुलदीप बिश्नोई की बगावत पड़ी भारी

हरियाणा में कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई (Kuldeep Bishnoi) की बगावत पार्टी पर भारी पड़ गई. कांग्रेस जीती हुई बाजी हार गई. माना जा रहा है कि बिश्नोई ने क्रॉस वोटिंग की. जिसकी वजह से कांग्रेस प्रत्याशी अजय माकन (Ajay Maken) चुनाव हार गए.

कुलदीप बिश्नोई पिछले कुछ महीनों से पार्टी से नाराज चल रहे थे. कुलदीप को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष न बनने की कसक थी. उन्होंने राहुल गांधी से मिलने का समय भी मांगा था. लेकिन सवा महीने बीत जाने के बाद भी कुलदीप बिश्नोई की मुलाकात राहुल गांधी से नहीं हुई. इसके बाद ही कुलदीप ने राज्यसभा चुनाव में अपनी अंतरात्मा की आवाज से वोट डालने की घोषणा की.

कांग्रेस प्रत्याशी की हार के बाद कुलदीप बिश्नोई ने ट्वीट कर पार्टी पर तंज कसा है. उन्होंने अपने अपने ट्वीट में लिखा है कि फन कुचलने का हुनर आता है मुझे, सांप के खौफ से जंगल नहीं छोड़ा करते.

वहीं सीएम मनोहर लाल ने कहा कि कुलदीप ने अपनी अंतरात्मा की आवाज से वोट दिया. कुलदीप ने पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियों में आस्था जताई है. यदि वे पार्टी में आना चाहेंगे तो उनका स्वागत है और हम तो हुड्‌डा साहब का भी स्वागत करते हैं.

माना जा रहा है कि इस ट्वीट कर जरिए कुलदीप ने कहीं न कहीं पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा और उनके पुत्र दीपेंद्र हुड्‌डा पर निशाना साधा है. क्योंकि कुलदीप बिश्नोई के प्रदेशाध्यक्ष बनने में सबसे बड़ा रोड़ा भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा और दीपेंद्र हुड्‌डा ही थे.

कांग्रेस ले सकती है एक्शन

कुलदीप बिश्नोई के क्रॉस वोटिंग करने के कारण अब कांग्रेस हाईकमान उन पर एक्शन ले सकती है. उन्हें पार्टी से बाहर किया जा सकता है और उनकी प्राथमिक सदस्यता रद्द की जा सकती है.

कर्नाटक में JDS विधायकों ने दिया झटका

कर्नाटक में भी JDS विधायकों ने पार्टी को डबल झटका दिया है. विधायक श्रीनिवास गौड़ा और श्रीनिवास गुब्बी ने पार्टी के खिलाफ जाकर कांग्रेस को वोट दिया. क्रॉस वोटिंग की वजह से पार्टी अपना खाता भी नहीं खोल पाई. चार सीटों में एक सीट पर दोनों मुख्य विपक्षी दलों कांग्रेस और JDS के बीच कांटे की टक्‍कर थी.

श्रीनिवास गौड़ा से जब पूछा ये गया कि उन्होंने किसे वोट दिया, तब उन्होंने कहा था, " मैंने कांग्रेस को वोट दिया है, क्योंकि मैं कांग्रेस से प्यार करता हूं." बता दें कि श्रीनिवास पहले भी कह चुके हैं कि वह एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाले जेडीएस को छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×