ADVERTISEMENT

BJP में शामिल हुए टीवी के ‘राम’ अरुण गोविल, ममता पर साधा निशाना

1980 के दशक में दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले सीरियल ‘रामायण’ में निभाया था राम का किरदार

Updated

टेलीविजन की दुनिया के मशहूर राम अरुण गोविल गुरुवार को बीजेपी में शामिल हो गए. उन्होंने 1980 के दशक में दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाली रामानंद सागर के निर्देशन में बने सीरियल ‘रामायण’ में राम का किरदार निभाया था.

अरुण ने बीजेपी का हाथ ऐसे समय पर थामा है जब पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में 10 दिन से भी कम वक्त बचा है. 27 मार्च से केरल, असम, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनावों की वोटिंग शुरू हो जाएगी.

अरुण गोविल ने दिल्ली स्थित बीजेपी कार्यालय में सदस्यता ली. पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह और केंद्रीय मंत्री देबाश्री चौधुरी ने उनका बीजेपी में स्वागत किया. हालांकि, बीजेपी ये साफ कर चुकी है कि गोविल चुनाव नहीं लड़ेंगे, सिर्फ पार्टी के लिए प्रचार करेंगे.

ममता को राम के नारे से दिक्कत

पार्टी में शामिल होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में अरुण गोविल ने राम के नारे का जिक्र करते हुए ममता बनर्जी पर निशाना साधा.

ममता बनर्जी जी को जय श्री राम के नारे से एलर्जी हो गई है. ये कोई राजनीतिक नारा नहीं है. ये उद्घोष है, ये हमारा जीवन, हमारे आदर्श, हमारे संस्कार हैं.
ADVERTISEMENT

राजनीति नहीं देश सेवा के लिए आया

पार्टी की सदस्यता लेने के बाद अरुण ने कहा

जिसे राजनीति कहा जाता था वो मुझे नहीं आती. मैं यहां राजनीति के लिए नहीं अपना कर्तव्य निभाने आया हूं. पहले एक्टर के रूप में समाज में कंट्रीब्यूशन दिया इसके बाद देश सेवा के रूप में योगदान देना था. देश सेवा के लिए एक प्लटफॉर्म चाहिए था. वही प्लेटफॉर्म बीजेपी है. 
ADVERTISEMENT

जब करियर शिखर पर था तब कांग्रेस में थे

खास बात ये है कि 1980 के दौर में जब अरुण की लोकप्रियता शिखर पर थी तब उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा था. इसके जवाब में बीजेपी ने रामायण में रावण का किरदार निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी और सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखालिया को टिकट दिया था और दोनों चुनाव जीतकर सांसद बन गए थे.

ADVERTISEMENT

रामायण से अब तक क्या कर रहे थे गोविल

रामायण के बाद अरुण गोविल ने टेलीविजन में काम जारी रखा. लव-कुश, हरीषचंद्र, विश्वामित्र और बुद्ध जैसे कई पौराणिक कथाओं पर आधारित नाटकों में वे नजर आए. अरुण ने लगभग 63 हिंदी, ओडिया, भोजपुरी और तेलुगू फिल्मों में लीड रोल भी किया.

आखिरी बार अरुण गोविल ने तब सुर्खियां बटोरी थीं जब लॉकडाउन के दौरान दूरदर्शन पर रामानंद सागर की रामायण का प्रसारण हुआ. प्रसारण देखते हुए उनकी कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT