ADVERTISEMENT

लालू यादव ने नीतीश के लिए मांगा नोबेल पुरस्कार, JDU का भी पलटवार

लालू प्रसाद यादव ने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य केंद्र बदहाल हैं

Published
लालू प्रसाद यादव ने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य केंद्र बदहाल है
i

बिहार में इस कोरोना काल में मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सरकार पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है. इसी क्रम में आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य केंद्र बदहाल हैं. साथ ही सीएम नीतीश कुमार पर कटाक्ष करते हुए उन्हें नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकित करने की बात कही. इधर, जेडीयू ने भी लालू प्रसाद पर तंज कसते हुए उन्हें घोटला शिरोमणि तक बता दिया. कोरोना वायरस की महामारी के दौर में लालू प्रसाद लगातार बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर सरकार पर सवाल उठा रहे हैं.

नीतीश कुमार की नाकामी, स्वास्थ्य केंद्र बंद- लालू

लालू प्रसाद ने गुरुवार को अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से आरजेडी कैमूर के प्राथमिक स्वास्थ्य उपकेंद्र, मचखिया, प्रखंड दुर्गावती की तस्वीर को रीट्वीट करते हुए लिखा, "बिहार में बंद पड़े (लेकिन गुलाबी और बसंती फाइलों में संचालित) ऐसे हजारों स्वास्थ्य केंद्र नीतीश कुमार की 'फेल्योर' (विफलता) के विराट स्मारक हैं."

आरजेडी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने मधुबनी जिले के हरलाखी प्रखंड के एक उप स्वास्थ्य केंद्र के संदर्भ में मधुबनी राजद के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, “ऐसे सैकड़ों स्वास्थ्य केंद्र बंद कराने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकित किया जाना चाहिए.”

ट्वीट में नीतीश कुमार के साथ स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को भी नोबेल पुरस्कार देने की मांग की गई है.

ADVERTISEMENT

लालू प्रसाद के मुख्यमंत्री पर कटाक्ष किए जाने के बाद जेडीयू के नेता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने पलटवार किया है. पूर्व मंत्री ने लालू प्रसाद को 'पुरुस्कृत घोटाला शिरोमणि' तक बता दिया.

पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा, "अब न्यायालय से पुरुस्कृत घोटाला शिरोमणि भी लाठी के बजाय कलम और डॉक्टरों को बिहार से भगाने के बदले स्वास्थ्य सेवा की बात करने लगे हैं. "

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT