ADVERTISEMENT

शिवसेना पर SC में सुनवाई कल तक टली,हरीश साल्वे बोले-एक नेता राजनीतिक पार्टी नहीं

एकनाथ शिंदे गुट की ओर से पेश हरीश साल्वे ने कहा कि "भारत में, हम कुछ नेताओं को ही राजनीतिक पार्टी मान लेते हैं

Published
शिवसेना पर SC में सुनवाई कल तक टली,हरीश साल्वे बोले-एक नेता राजनीतिक पार्टी नहीं
i

"उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) या महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे((Eknath Shinde)- शिवसेना (Shiv Sena) किसकी है?"- सुप्रीम कोर्ट में इस समय इसी सवाल का जवाब खोजने सुप्रीम कोर्ट में CJI एनवी रमना, जस्टिस कृष्ण मुरारी और जस्टिस हेमा कोहली की बेंच ने बुधवार, 3 अगस्त को दोनों पक्ष की याचिकाओं पर सुनवाई की. उद्धव ठाकरे गुट ने सुनवाई के दौरान एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले पार्टी के समूह पर " पार्टी विरोधी रुख को सही ठहराने के लिए नकली कथा गढ़ने" का आरोप लगाया है. उद्धव ठाकरे की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने दलील दी कि एकनाथ शिंदे गुट मूल पार्टी होने का दावा नहीं कर सकते. CJI ने सुनवाई कल तक के लिए स्थगित कर दी है.

ADVERTISEMENT

कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट की बेंच के सामने कहा कि

"आप यह दावा नहीं कर सकते कि आप ही राजनीतिक पार्टी हैं. और आप कहते हैं कि आप गुवाहाटी में बैठी राजनीतिक पार्टी हैं. राजनीतिक पार्टी चुनाव आयोग द्वारा तय किया जाता है. आप गुवाहाटी में बैठने की घोषणा नहीं कर सकते.

उद्धव ठाकरे गुट की ओर से पेश वरिष्ठ वकील अभिषेक सिंघवी ने कहा कि एकनाथ शिंदे खेमे के लिए एकमात्र रास्ता बीजेपी के साथ विलय है, जिसका वे दावा नहीं कर रहे हैं. दूसरी तरफ एकनाथ शिंदे गुट की ओर से पेश हुए हरीश साल्वे ने कहा कि "भारत में, हम कुछ नेताओं को ही राजनीतिक पार्टी मान लेते हैं. मैं (एकनाथ शिंदे) शिवसेना से संबंधित हूं. मेरे मुख्यमंत्री ने मुझसे मिलने से इनकार कर दिया ... मैं सीएम का बदलाव चाहता हूं. यह एंटी-पार्टी नहीं यह इंट्रा-पार्टी है"

"अगर बड़ी संख्या में विधायक,जो मुख्यमंत्री के काम करने के तरीके से संतुष्ट नहीं हैं और बदलाव चाहते हैं, तो वे यह क्यों नहीं कह सकते कि नए नेतृत्व की लड़ाई होनी चाहिए?"
एकनाथ शिंदे गुट के वकील हरीश साल्वे
ADVERTISEMENT

हरीश साल्वे ने यह दलील दी कि एकनाथ शिंदे के समर्थकों ने पार्टी की सदस्यता नहीं छोड़ी है और किसी बैठक में शामिल नहीं होने की तुलना सदस्यता छोड़ने से नहीं की जा सकती. एकनाथ शिंदे गुट की ओर से ही पेश वकील महेश जेठमलानी ने कहा कि नई सरकार इसलिए नहीं आई क्योंकि मुख्यमंत्री (उद्धव ठाकरे) फ्लोर टेस्ट में हार गए थे, बल्कि इसलिए कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया था.

CJI रमना ने केस में शामिल कानूनी मुद्दों को अंतिम रूप देने के लिए मामले को कल के लिए स्थगित कर दिया. अब इस मामले पर कल सुनवाई होगी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और politics के लिए ब्राउज़ करें

टॉपिक:  Maharashtra 

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×