ADVERTISEMENTREMOVE AD

हरिद्वार में मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ बयान देने वाले स्वामी को चाहिए BJP से टिकट

स्वामी सागर सिंधुराज हरिद्वार जिले के खानपुर निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी का टिकट हासिल करने की कोशिश कर रहा है

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

विवादस्पद हरिद्वार धर्म संसद (Haridwar Dharam Sansad) के दौरान हिंदुओं से खुद को हथियारबंद करने और म्यांमार की तरह मुसलमानों को मारकर भगाने का आह्वाहन करने वाला स्वामी सागर सिंधुराज (Swami Sagar Sindhuraj) आगामी उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी का टिकट लेने के जुगाड़ में है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

खुद दी थी फेसबुक पर जानकारी

सागर सिंधुराज उत्तराखंड के देवप्रयाग में श्री कृष्ण प्रणमी कल्याण आश्रम का अध्यक्ष और रुड़की में श्री कृष्ण प्रणमी गौ सेवा धाम का संस्थापक है. उसके खुद के फेसबुक पेज के अनुसार, वो हरिद्वार जिले के खानपुर निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी का टिकट हासिल करने की कोशिश कर रहा है.

16 दिसंबर को स्वामी सागर सिंधुराज ने उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ फेसबुक पर अपनी एक तस्वीर इस कैप्शन के साथ पोस्ट की.

“कल पूर्व मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी से मुलाकात की एवं खानपुर विधानसभा सीट से अपनी दावेदारी प्रस्तुत की. बीजेपी के अन्य कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात कर अपनी दावेदारी प्रस्तुत की”

स्वामी सागर सिंधुराज का दावा दिलचस्प है, क्योंकि इस सीट पर बीजेपी के मौजूदा विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन हैं, जो उत्तराखंड बनने के बाद से इस सीट से अपराजित हैं. 2012 में परिसीमन प्रक्रिया के बाद खानपुर निर्वाचन क्षेत्र अस्तित्व में आया. वर्तमान सीट के कई क्षेत्र पहले लक्सर में थे.

0

हरिद्वार धर्म संसद में स्वामी सागर सिंधुराज ने क्या कहा था ?

फैक्ट-चेकर मोहम्मद जुबैर द्वारा शेयर किए गए धर्म संसद के कुछ अंश के अनुसार सिंधुराज ने अपने भाषण में कहा था कि,

"आपके यहां से बाहर जाते ही लोगों के अंदर एक सूचना जानी चाहिए कि यदि हिंदू धर्म स्वीकार किया तो प्राण बच सकते हैं. वरना ये लोग (मुसलमानों को) म्यांमार की तरफ मारकर भगा सकते हैं. हमें एक हिंदू राष्ट्र बनाना है."

साथ ही उन्होंने 5000 रुपए के मोबाइल के साथ अपने पास 1 लाख रुपए का हथियार रखने की भी बात कही. कहा कि “आपके घर में हमेशा तलवारें और लाठियां होनी चाहिए ताकि कोई आए तो जिंदा न निकले."

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×