तेलंगाना विधानसभा चुनाव में शाम 6 बजे तक 67 फीसदी वोटिंग

119 सदस्यों वाली विधानसभा में बहुमत के लिए 60 सदस्य चाहिए

Updated07 Dec 2018, 05:12 PM IST
पॉलिटिक्स
4 min read
स्नैपशॉट
  • तेलंगाना की 119 विधानसभा सीटों पर वोटिंग खत्म
  • चुनाव में किसी भी गड़बड़ी से निपटने के लिए करीब 446 उड़न दस्ते मुस्तैद रहे
  • चुनाव को पूरा कराने की जिम्मेदारी डेढ़ लाख से ज्यादा मतदान अधिकारियों पर रही
  • राज्य में कुल 2.80 करोड़ मतदाताओं को अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने का अवसर मिला

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों के धुआंधार चुनाव प्रचार के बाद कुल 119 विधानसभा सीटों पर शुक्रवार को वोटिंग खत्म हो गई. राज्य में सत्ताधारी टीआरएस, कांग्रेस नीत गठबंधन और बीजेपी में त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है. तेलंगाना में पहली बार वोटिंग के साथ वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

1:23 PM, 07 Dec

Telangana Elections | छह बजे तक 67 फीसदी वोटिंग

तेलंगाना में 119 विधानसभा सीटों के लिए शाम छह बजे तक 67 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है. चुनाव आयोग के मुताबिक, कुछ पोलिंग स्टेशन पर वोटिंग अभी भी जारी है.

बता दें, 2014 तेलंगाना विधानसभा चुनाव में 69.5 फीसदी लोगों ने मतदान किया था.

10:33 AM, 07 Dec

वोटर लिस्ट से नाम गायब होने के कारण ज्वाला गुट्टा नहीं डाल सकी वोट

बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा वोटर लिस्ट में नाम न होने की वजह से वोट नहीं डाल सकी. गुट्टा ने ट्वीटर पर एक वीडियो संदेश में कहा, ‘मैंने अपने नाम की जांच की थी और इसलिए आज मैं वोट करने गयी लेकिन मेरा नाम वोटर लिस्ट से गायब था. मेरा कहना है कि मेरे पिता और बहन का नाम तब से गायब है जबसे हमने इसकी ऑनलाइन जांच की थी.''

उन्होंने पूछा कि वोटर लिस्ट से उनका नाम क्यों हटाया गया, जबकि पिछले 12 साल से वह एक घर में रह रही हैं. ज्वाला ने कहा कि अगर नाम काटा जाता है तो संबंधित व्यक्ति को निश्चित तौर पर सूचित किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि उनकी मां का नाम मतदाता सूची में है और उन्होंने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया है. ज्वाला के पिता क्रांति गुट्टा ने बताया कि लगभग एक महीने पहले ज्वाला का नाम वोटर लिस्ट में था.

10:28 AM, 07 Dec

Telangana Elections | दोपहर तीन बजे तक 56.17 फीसदी वोटिंग

9:46 AM, 07 Dec

तेलंगाना सरकार ने वोटरों के लिए टोल वसूली रोकी

हैदराबाद शहर से वोट देने अपने गांवों या पैतृक स्थान पर जाने वाले वोटरों के लिए राज्य सरकार ने शुक्रवार टोल माफ करने का फैसला किया है. राज्य के मुख्यसचिव ने मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र लिख कर सरकार के इस फैसले की मंजूरी देने की मांग की है.

चुनाव अधिकारियों ने रिपोर्टरों से कहा है कि टोल प्लाजा पर लंबी लाइनों को देखते हुए उन्होंने मुख्य सचिव से टोल माफ करने का अनुरोध किया था. टोल लाइन में लाइनें खत्म होने से लोग जल्दी अपने पैतृक स्थानों पर पहुंच कर वोट दे सकेंगे

8:46 AM, 07 Dec

राज्य में पूर्ण बहुमत से जीतेगी टीआरएस : सीएम

7:31 AM, 07 Dec

बंडारू दत्तात्रेय ने डाला वोट

तेलंगाना से बीजेपी एमपी बंडारू दत्तात्रेय ने मुशीराबाद विधानसभा क्षेत्र में रामनगर के बूथ नंबर 229 पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया.

7:28 AM, 07 Dec

तेलंगाना की 119 विधानसभा सीटों के लिए मतदान जारी है, सुबह 11 बजे तक राज्य में 23.4 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है.

6:49 AM, 07 Dec

सानिया मिर्जा ने डाला वोट

मशहूर टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा भी हैदराबाद के फिल्म नगर कल्चरल सेंटर के पोलिंग बूथ में अपना वोट डालने आईं. काली टी शर्ट पहने सानिया मिर्जा जब वोटरों की लाइन में लगी थीं उन्हें लेकर खासी उत्सुकता दिख रही थी.

6:09 AM, 07 Dec

तेलंगाना में कांग्रेस नेता मधु याक्षी के काफिले पर हमला

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और प्रवक्ता मधु याक्षी एक हमले में बाल-बाल बच गए. न्यूज वेबसाइट 'द न्यूज मिनट' के मुताबिक गुरुवार की रात मेटपल्ली में उनके काफिले पर कुछ लोगों ने हमला किया लेकिन वह बाल-बाल बच गए.

6:08 AM, 07 Dec

मतदान शांतिपूर्ण : रजत कुमार, मुख्य चुनाव अधिकारी

चीफ इलेक्टोरल ऑफिसर रजत कुमार ने न्यूज एजेंसी एआईएनएस को बताया कि तेलंगाना में वोटिंग शांतिपूर्ण ढंग से चल रही है. अभी तक किसी अप्रिय वारदात की कोई खबर नहीं है.

4:37 AM, 07 Dec

वोटिंग जारी, सुबह साढ़े नौ बजे तक 10.15 फीसदी वोटिंग

तेलंगाना में सुबह सात बजे 119 सीटों के लिए वोटिंग शुरू हो गई थी. सुबह साढ़े नौ बजे तक 10.15 फीसदी मतदान होने की खबर है. इस बीच, कई प्रमुख नेताओं और फिल्म स्टार्स ने मतदान केंद्रों पर जाकर वोट दिया.

4:26 AM, 07 Dec

हैदराबाद : एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी ने वोट डाला

एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी ने शास्त्रीपुरम में मेलरदेवपल्ली के बूथ नंबर 317 में वोट डाला.

3:37 AM, 07 Dec

डिप्टी सीएम श्रीहरि ने डाला वोट

वारंगल में डिप्टी सीएम के श्रीहरि ने वोट डाला. इससे पहले सिंचाई मंत्री टी हरीश राव ने सिद्दीपेट में और बीजेपी के जी कृष्णा रेड्डी ने काचिगुड़ा में वोट डाले.

3:04 AM, 07 Dec

पोलिंग बूथ पर फिल्म स्टार भी पहुंचे

तेलंगाना में आम वोटरों के साथ फिल्म स्टार भी वोटिंग के लिए लाइन में लगे दिखे. हैदराबाद में जुबिली हिल्स के बूथ नंबर 152 पर अल्लु अर्जुन तो बूथ नंबर 151 पर एक्टर ए नागार्जुन और उनकी पत्नी अभिनेत्री अमाला अक्किनी भी वोट डालने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते दिखे

2:25 AM, 07 Dec

हैदराबाद : एक पोलिंग स्टेशन पर तकनीकी गड़बड़ी से वोटिंग में रुकावट

हैदराबाद के अंबरपेट में जीएचएमसी इंडोर स्टेडियम में बने एक पोलिंग स्टेशन में तकनीकी गड़बड़ी की वजह से वोटिंग शुरू नहीं हो पाई है. राज्य में 119 विधानसभा सीटों के लिए सुबह 7 बजे ही वोटिंग शुरू हो गई थी.

1:43 AM, 07 Dec

तेलंगाना में वोटिंग शुरू

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में 119 सीटों के लिए वोटिंग सुबह 7 बजे शुरू हो गई. मतदान केंद्रों पर वोटरों की लंबी लाइनें देखने को मिल रही हैं.

9:29 AM, 06 Dec

TDP के मजबूत गढ़

तेलंगाना के कई इलाके ऐसे हैं, जहां आंध्र प्रदेश वाले इलाके के लोग बसे हुए हैं. ऐसी जगह TDP की अच्छी लोकप्रियता है. इसी तरह कांग्रेस का अपना वोटबैंक है, जो कैंडिडेट के बजाए पार्टी के प्रति वफादार है.

जानकारों के मुताबिक, केसीआर को थोड़ा-बहुत नहीं, अपना वोट शेयर 6 परसेंट से ज्यादा बढ़ाना होगा, वरना सरकार में उनकी वापसी खतरे में पड़ सकती है.

9:25 AM, 06 Dec

TRS की मजबूती

KCR की पार्टी को 2014 में सिर्फ 63 सीटें मिली थीं, लेकिन 2018 आते-आते वो बढ़कर 90 हो गईं. 4 साल में कांग्रेस के 12, टीडीपी के 13, वाईएसआर कांग्रेस के 3 और बीएसपी के दो विधायक TRS में शामिल हो गए.

टीआरएस के सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस और टीडीपी के जो विधायक चार साल में टीआरएस में शामिल हुए हैं, उनकी अपनी लोकप्रियता है, इसलिए विपक्ष कागज में वोट जोड़कर टीआरएस से आगे निकल जाना उनकी खुशफहमी है.

तेलंगाना विधानसभा चुनाव में शाम 6 बजे तक 67 फीसदी वोटिंग
(फोटो: क्विंट)
9:22 AM, 06 Dec

कुछ दिन पहले तक के. चंद्रशेखर राव की जीत बेहद आसान मानी जा रही थी, लेकिन कांग्रेस-टीडीपी गठबंधन ने वोटों के लिहाज से उनके सामने कड़ी चुनौती रख दी है. पिछली बार के चुनाव में उन्हें जो वोट मिले हैं, वो जीत की गारंटी नहीं देते. यही वजह है कि वो टेंशन में लग रहे हैं.

119 सदस्यों वाली विधानसभा में बहुमत के लिए 60 सदस्य चाहिए और TRS को 2014 में सिर्फ 63 सीटें मिली थीं. वोट मिले थे केवल 34.3 परसेंट.

तेलंगाना में KCR का भरोसा हिला, कांग्रेस+TDP+CPI के पास ज्यादा वोट

Published: 06 Dec 2018, 11:01 AM IST

क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!