ADVERTISEMENTREMOVE AD

UP: प्रयागराज हिंसा के मुख्य आरोपी जावेद मोहम्मद के घर पर चला बुलडोजर

Prayagraj में हिंसा के बाद 90 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी हुई है जिसमें जावेद मोहम्मद भी हैं.

Published
न्यूज
3 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के प्रयागराज (Prayagraj) में करैली स्थित जावेद मोहम्मद (Javed Mohammed) के घर प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है. प्रशासन ने रविवार, 12 जून को जावेद का घर बुलडोजर से ढहा दिया.

पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ नूपुर शर्मा की विवादित टिप्पणी के बाद जावेद मोहम्मद को शुक्रवार को प्रयागराज में भड़की हिंसा का मुख्य साजिशकर्ता मानकर गिरफ्तार किया था. साथ ही साथ उनकी पत्नी और एक बेटी को भी हिरासत में लिया गया है. कई जिलों में हुई हिंसा में 300 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इसी क्रम में प्रयागराज से 90 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी हुई है जिसमें जावेद मोहम्मद भी हैं. 

ADVERTISEMENTREMOVE AD

प्रयागराज में भड़की थी हिंसा

पूर्व बीजेपी नेता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के भड़काऊ बयान के बाद उनकी गिरफ्तारी को लेकर शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के तकरीबन 9 जिलों में आंदोलन हुआ था. प्रयागराज में इस आंदोलन ने जबरदस्त हिंसा का स्वरूप ले लिया था जहां घटना के दौरान पुलिस बल पर लगातार पत्थरबाजी होती रही. पत्थरबाजी के अलावा भीड़ ने हिंसा और आगजनी करते हुए पुलिस की कई गाड़ियों को निशाना बनाया. इस दौरान पुलिस आरएफ और पीएसी के कई जवान घायल भी हुए.

हिंसा के बाद शुरू हुई जांच में स्थानीय प्रशासन और प्रयागराज विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने आरोपियों के घर और दुकानों का सर्वे शुरू कर दिया था. अधिकारियों का कहना था कि सर्वे के दौरान जिनके निर्माण अवैध मिले उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी.
0

भारी सुरक्षा के बीच ध्वस्त हुआ मकान

शनिवार को प्रयागराज विकास प्राधिकरण की तरफ से जावेद मोहम्मद को उनके करेली स्थित आवास के लिए एक नोटिस उनके घर पर चस्पा किया गया था. इस नोटिस के माध्यम से उन्हें बताया गया था कि उनका दो मंजिला आवास अवैध रूप से बना है तथा इसके ध्वस्तीकरण की कार्यवाही रविवार को 11 बजे के बाद की जाएगी.

रविवार को सुबह जेसीबी के साथ-साथ कई थानों की फोर्स और पीएसी की कई टुकड़ियां प्रयागराज के करैली थाने पहुंचने लगे. दोपहर 12 बजे के बाद आला अधिकारी पुलिस बल के साथ जावेद मोहम्मद के करैली स्थित आवास पहुंचे, जहां पर बुलडोजर के माध्यम से ध्वस्तीकरण शुरू हुआ.

सहारनपुर में भी ध्वस्त हुए दो मकान

बुलडोजर कार्यवाही की शुरुआत शनिवार को सहारनपुर से हुई, जहां आंदोलन और हिंसा में गिरफ्तार हुए दो अभियुक्त मुजम्मिल और अब्दुल वाकिर के मकानों को स्थानीय पुलिस ने गिरा दिया था. सुबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने कानून व्यवस्था पर हुई एक बैठक के बाद उपद्रवियों को लेकर अपना रुख साफ कर दिया था. बैठक के बाद योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट में कहा:

"माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले अराजक तत्वों के साथ पूरी कठोरता की जाएगी. ऐसे लोगों के लिए सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं होना चाहिए. कोई भी दोषी छोड़ा नहीं जाएगा"
ADVERTISEMENT

अब तक 13 FIR, 300 से ज्यादा गिरफ्तार

मुकम्मल तैयारियों का दावा करने के बावजूद कानपुर में घटी हिंसा के ठीक 1 हफ्ते बाद उत्तर प्रदेश के कई शहरों में हुए आंदोलन और हिंसा के बाद राज्य प्रशासन सकते में आ गया था. प्रयागराज में अपर पुलिस महानिदेशक समेत सभी आला अधिकारियों को सड़क पर उतरकर मोर्चा संभालना पड़ गया था.

जून 10 को हुए हिंसा और आंदोलन में उत्तर प्रदेश के तकरीबन 9 जिले प्रभावित हुए थे. पुलिस ने जांच शुरू करते हुए आंदोलनकारियों को पहचाने के साथ-साथ उनकी धरपकड़ के लिए कार्यवाही तेज कर दी है. पूरे प्रदेश में अभी तक 13 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं और अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार के अनुसार 9 जिलों में 300 से ज्यादा गिरफ्तारियां हो चुकी हैं.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENTREMOVE AD
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
×
×