ADVERTISEMENTREMOVE AD

OBC के खिलाफ अभद्र भाषा बोलने का आरोप, रामदेव ने दी सफाई - "ओबीसी नहीं ओवैसी बोला"

योग गुरु रामदेव का दावा- "ओबीसी को लेकर हमने कभी उल्टा नहीं बोला."

Published
न्यूज
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

सोशल मीडिया पर योग गुरु रामदेव (Ramdev) का एक वीडियो वायरल हो रहा है. कई यूजर इस वीडियो को शेयर कर दावा कर रहे हैं कि रामदेव ने ओबीसी समुदाय का कथित अपमान किया है. वीडियो वायरल होने के साथ X (पहले ट्विटर) पर पतंजलि के बहिष्कार से जुड़े हैशटैग भी ट्रेंड में हैं. बढ़ते विवाद रामदेव ने शनिवार, 13 जनवरी को दावा किया कि वो दरअसल कथित वीडियो में 'ओबीसी' नहीं 'ओवैसी' बोल रहे थे.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

वीडियो वायरल होने के बाद रामदेव ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, उन्होंने ओबीसी पर कभी कोई बयान नहीं दिया है. ओबीसी विवाद से जोड़े सवाल के जवाब पर रामदेव ने यहां तक कह दिया कि ओवैसी के पूर्वजों की सोच हमेशा देश विरोधी रहा है. मैं उन्हें गंभीरता से नहीं लेता.

कथित वायरल वीडियो में रामदेव क्या कहते सुने गए?

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल कर यूजर यह दावा कर रहे हैं कि योग गुरु ओबीसी समुदाय का अपमान कर रहे हैं. यूजर यह दावा कर रहे हैं कि वीडियो में रामदेव कहते हैं कि "मेरा मूल गोत्र ब्रह्म गोत्र है. मैं अग्निहोत्री ब्राह्मण हूं. लोग कहते हैं बाबाजी आप तो ओबीसी हो. ओबीसी वाले ऐसी-तैसी कराए. मैं हूं वेदी ब्राह्मण, मैं हूं द्विवेदी ब्राह्मण, मैं हूं त्रिवेदी ब्राह्मण, मैं हूं चतुर्वेदी ब्राह्मण. मैंने चार वेद पढ़े हैं."

हालांकि क्विंट हिंदी इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है.

अब रामदेव ने किया बचाव

इस विवाद से जुड़े एक सवाल पर उन्होंने कहा, "हमने कई बयान नहीं दिया. औवैसी की, उनके पूर्वजों की हमेशा से देश विरोधी सोच रही है. उसको हमें गंभीरता से नहीं लेना है. ओबीसी को लेकर हमने कभी उल्टा नहीं बोला."

वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर 'बाबा रामदेव माफी मांगो', 'बायकॉट पतंजली', आदि सोशल मीडिया पर ट्रेैंड करने लगा.

इस्लाम पर भी दे चुके हैं विवादित बयान

पिछले साल 2023 में बाबा रामदेव ने इस्लाम पर भी अपमानित टिपण्णी करते हुए कहा था, “मुसलमानों के लिए सिर्फ नमाज पढ़ना जरूरी है और नमाज पढ़ने के बाद कुछ भी करो, सब कुछ जायज है. चाहे हिंदुओं की लड़कियों को उठाओ, चाहे जिहाद के नाम पर आतंकवादी बनकर जो मन में आए वो करो. "

रामदेव ने इसके साथ ही ईसाई धर्म के बारे में अपमानित बातें कहीं थी.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×