ADVERTISEMENTREMOVE AD

कांग्रेस नेताओं से गहलोत की मुलाकात, कैबिनेट में पायलट के वफादार भी होंगे शामिल?

राजस्थान के सियासी मसले को सुलझाने के लिए 25 दिन में दूसरी बार सीएम अशोक गहलोत दिल्ली पहुंचे.

Published
राज्य
2 min read
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 10 नवंबर को कांग्रेस नेताओं से दिल्ली में मुलाकात की. करीब तीन घंटे चली इस बैठक में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, राहुल गांधी, संगठन महासचिव केसी विणुगोपाल और राजस्थान प्रभारी अजय माकन शामिल हुए. राजस्थान के सियासी मसले को सुलझाने के लिए 25 दिन में दूसरी बार सीएम अशोक गहलोत दिल्ली पहुंचे.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

कहा जा रहा है कि इस मुलाकात में कैबिनेट में सचिन पायलट के वफादारों को शामिल करने के लंबे समय से चले आ रहे मुद्दे पर चर्चा हुई. NDTV ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि कांग्रेस आलाकमान चाहता है कि फेरबदल तुरंत हो और पायलट के वफादारों को शामिल किया जाए.

गहलोत 11 नवंबर को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात कर सकते हैं.

बैठक के बाद अजय माकन ने कहा कि राजस्थान में 2023 में सरकार फिर से बनाने समेत हर मुद्दे पर बातचीत हुई. इसका रोडमैप तैयार किया गया. कैबिनेट विस्तार, राजनीतिक नियुक्ति पर सीधा जवाब देने की बजाय कहा कि ये कभी भी हो सकता है.

कैबिनेट में पायलट के वफादारों को शामिल करना पिछले साल प्रियंका गांधी द्वारा तैयार किए गए फॉर्मूले के हिस्से के रूप में देखा गया था. एक महीने तक चले इस सियासी संकट ने अशोक गहलोत सरकार को गिरने की कगार पर ला दिया था.

पायलट खेमे के चार चेहरे हो सकते हैं शामिल

हालांकि, राजस्थान में जिस तरह के उपचुनाव के नतीजे आए हैं उसको देखते हुए राज्य में कैबिनेट विस्तार में कुछ और समय तक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को राहत मिल गई है. इसके साथ ही गुटबाजी झेल रहे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को राज्य में दो सीटें जीतने का हौसला मिला और कैबिनेट विस्तार के लिए विरोधी गुट द्वारा उन पर जो दबाव बनाया जा रहा था वो भी कुछ कम हो गया है.

सूत्रों के मुताबिक, गहलोत के नए फॉमूर्ले में मंत्री बनने से वंचित रहने वाले विधायकों को राजनीतिक नियुक्तियां देकर संतुष्ट करने का फार्मूला अपनाया जाएगा.

इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 16 अक्टूबर को दिल्ली दौरे आये थे. उस दौरे उनकी सोनिया गांधी से मुलाकात नहीं हुई थी. हालांकि, सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की बैठक में हिस्सा लिया था. उस समय राहुल गांधी के आवास पर हुई बैठक में गहलोत के प्रियंका गांधी, केसी वेणुगोपाल और अजय माकन के साथ चर्चा की थी.

सूत्रों के मुताबिक, राजस्थान कैबिनेट विस्तार में 9 नए चेहरों को शामिल किया जाएगा. इसमें पायलट खेमे के 4 चेहरे कैबिनेट में शामिल होंगे.

(इनपुट्स- IANS)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×