ADVERTISEMENT

बेगूसराय में अंधाधुंध फायरिंग पर बोली बिहार पुलिस- दहशत फैलाना था मकसद

Begusarai Firing: बेगूसराय में अंधाधुंध फायरिंग करने वाले बदमाश पहले भी जा चुके हैं जेल.

Published
राज्य
2 min read
ADVERTISEMENT

बिहार के बेगूसराय जिले में अंधाधुंध फायरिंग कर दहशत फैलाने वाले सनकी शूटर्स को लेकर बिहार पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि अपराधियों का मकसद अब तक की जांच में सिर्फ दहशत फैलाना ही दिख रहा है. पकड़े गए अपराधियों में केशव कुमार उर्फ नागा और युवराज कुमार पर पूर्व से भी आपराधिक मामले दर्ज हैं और आर्म्स एक्ट के मामले में यह दोनों जेल भी जा चुके हैं. अर्जुन और चुनचुन की भी संलिप्तता सामने आई है.

ADVERTISEMENT
13 सितंबर की शाम चार अपराधियों के द्वारा अंधाधुंध फायरिंग की घटना को अंजाम दिया गया था, जिसमें अपराधियों ने बछवाड़ा, तेघरा, फुलवरिया और चकिया थाना क्षेत्र में सड़क किनारे राहगीरों को अपना निशाना बनाया था. 10 लोगों को घायल करने के बाद अपराधी फरार हो गए थे. जिनमें से एक की इलाज के दौरान मौत भी हो गई थी.
योगेंद्र कुमार, एसपी, बेगूसराय

फिलहाल, पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल सर्विलांस के आधार पर चारों अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली है.

एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि इनमें और लोगों की संलिप्तता हो सकती है. इसके लिए अभी जांच जारी है. दूसरी ओर केशव के परिवार वालों ने बेगूसराय पुलिस पर केशव को जबरन फंसाने का आरोप लगाया है और एक सीसीटीवी फुटेज भी दिखाया था.

इस संबंध में एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि जो सीसीटीवी फुटेज परिवार वालों के द्वारा दिखाया जा रहा है वह घटना के बाद का सीसीटीवी फुटेज है. इससे पूर्व अपराधियों ने घटना को अंजाम दे दिया था. पुलिस की दबिश के बाद जब केशव जिला छोड़कर फरार हो रहा था, इसी दौरान मोबाइल सर्विलांस के आधार पर पुलिस ने झाझा स्टेशन से उसको भी दबोच लिया था.

पुलिस के शुरुआती दावे को अगर सच मान लिया जाये तो एक सवाल ये उठता है कि अगर वो दहशत फैलाना चाहते थे तो दोनों ने अपना चेहरा क्यों छिपा रखा था. ये वो सवाल है जिसका जवाब पुलिस को जल्दी ढूंढना होगा. और अगर ये बात सच है तो फिर कानून व्यवस्था पर सवाल उठेंगे कि क्या पुलिस का जरा भी डर अपराधियों में नहीं है.

क्या हुआ था उस दिन?

दरअसल, बेगूसराय के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में 13 सिंतबर को मोटर साइकिल पर सवार दो युवकों ने अंधाधुंध गोलीबारी कर दी थी. इस घटना में 11 लोगों को गोली लगी थी, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.

घटना के तुरंत बाद पुलिस को ने एक सीसीटीवी फुटेज जारी किया था. पुलिस की तरफ से जारी सीसीटीवी फुटेज में दोनों एक बाइक पर सवार दिख रहे थे. फुटेज में साफ तौर पर देखा जा सकता था कि बाइक चला रहे साइको शूटर्स ने हेलमेट पहन रखा था, जबकि उसके पीछे बैठे अपराधी ने तौलिया से अपना चेहरा ढक रखा था. बाइक सवार लगातार आगे बढ़ते दिख रहे थे.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Speaking truth to power requires allies like you.
Q-इनसाइडर बनें
450

500 10% off

1500

1800 16% off

4000

5000 20% off

प्रीमियम

3 माह
12 माह
12 माह
Check Insider Benefits
अधिक पढ़ें
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
और खबरें