कश्मीर में आज से जा पाएंगे सैलानी, 370 हटने के बाद लगी थी पाबंदी

ट्रैवल एजवाइजरी हटाए जाने के बाद कश्मीर जा सकेंगे टूरिस्ट

Updated
राज्य
2 min read
श्रीनगर के डल झील में शिकारा चलाता एक कश्मीरी
i

जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 खत्म किए जाने की वजह से टूरिज्म पर लगे प्रतिबंधों को अब हटा दिया गया है. अब देश और दुनियाभर से लोग कश्मीर की वादियों में घूमने जा सकते हैं. अब यहां पर्यटकों की आवाजाही पर किसी भी तरह की रोक नहीं है. कश्मीर के लिए लागू हुई ट्रैवल एडवाइजरी को हटा दिया गया है. कुछ ही दिन पहले राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने इसकी घोषणा की थी.

राज्यपाल मलिक ने कहा था कि 10 अक्टूबर से जम्मू-कश्मीर में लागू ट्रैवल एजवाइजरी को हटा दिया जाएगा. इसके बाद से यहां पर्यटकों की आवाजाही पर किसी भी तरह की कोई पाबंदी नहीं रहेगी.

फेसम टूरिस्ट स्पॉट है कश्मीर

कश्मीर को धरती का स्वर्ग भी कहा जाता है. कश्मीर की खूबसूरती से भरी वादियों का दीदार करने हजारों लोग यहां पहुंचते हैं. इन हरी-भरी वादियों में भारत के अलावा विदेशों से भी कई टूरिस्ट घूमने आते हैं. वहीं कई बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग भी यहां होती रहती है. जिससे कश्मीर के कई लोगों को फायदा पहुंचता है. अब दो महीने बाद जब टूरिस्ट कश्मीर पहुंचने शुरू होंगे तो ट्रांसपोर्ट से लेकर शिकारा चलाने वाले कश्मीरियों को इसका फायदा होगा.

सरकार ने अचानक जारी की एजवाइजरी

जम्मू-कश्मीर में दो महीने पहले सब कुछ सामान्य था, अमरनाथ यात्रा चल रही थी. लेकिन अचानक केंद्र सरकार की तरफ से जम्मू-कश्मीर के लिए एक ट्रैवल एजवाइजरी जारी कर दी गई. जिसमें कहा गया कि जल्द से जल्द टूरिस्ट कश्मीर से बाहर आएं. इसके तीन दिन बाद आर्टिकल 370 को खत्म किए जाने की बात कही गई. सभी विपक्षी नेताओं को उनके ही घरों में नजरबंद कर दिया गया.

जिसके बाद राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने सोमवार को कश्मीर में मौजूदा हालात और सुरक्षा पर एक हाई लेवल बैठक की. इस बैठक में एडवाइजर्स और चीफ सेक्रेट्री ने भी हिस्सा लिया. बैठक में कई अन्य विभागों के बड़े अधिकारियों ने भी हिस्सा लिया. इसी दौरान फैसला लिया गया कि जम्मू-कश्मीर में पर्यटकों के लिए जारी की गई ट्रैवल एडवाइजरी हटा दी जाएगी.

कोरोनावायरस से जारी जंग के बीच तमाम अपडेट्स और जानकारी के क्लिक कीजिए यहां

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram और WhatsApp चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!