ADVERTISEMENT

MP में भीड़ तंत्र जारी: देवास में 'लव जिहाद' के शक में पुलिस के सामने ही पिटाई

बाद में पता चला लड़का और लड़की दोनों एक ही समुदाय से हैं और यूपी से भागे हैं.

Published
राज्य
2 min read
<div class="paragraphs"><p>देवास में भीड़ ने पुलिस के सामने की नाबालिग की पिटाई</p></div>
i

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) भीड़ द्वारा पिटाई का एक और मामला सामने आया है. 'लव जिहाद' के शक में देवास जिले में पुलिस के सामने एक नाबालिग लड़के की पिटाई कर दी गई. लड़का, एक 12 साल की लड़की के साथ बस में सफर कर रहा था, जिसके बाद लव जिहाद के शक में भीड़ ने उसकी पिटाई कर दी. पुलिस की जांच में सामने आया है कि लड़का और लड़की एक ही धर्म के हैं.

ADVERTISEMENT

द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, लड़का और लड़की, उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में अपने घर से भाग गए थे. उनकी लोकेशन पता चलने के बाद यूपी पुलिस ने देवास में पुलिस को इस बारे में सूचना दी. डिएसपी आकांक्षा भिछोटे ने कहा कि "हमें संदेह है कि उनका उत्तर प्रदेश से पीछा किया जा रहा था."

पुलिस ने इस मामले में 18 लोगों के खिलाफ हिंसा का केस दर्ज कर लिया है. केस में तीन लोगों का नाम दर्ज किया गया है, वहीं बाकी 15 लोगों की पहचान की जा रही है.

पुलिस के सामने ही नाबालिगों पर हमला

डीएसपी ने बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी मिली थी कि दोनों गुजरात जा रही एक बस में थे. भोंरासा गांव में नाबालिगों को बस से उतारने के बाद, भीड़ ने इस संदेह में लड़के को पीटना शुरू कर दिया कि वो अल्पसंख्यक समुदाय से है.

रिपोर्ट में डीएसपी ने कहा, "पुलिस ने लड़के को बचाने की कोशिश की, लेकिन हमलावर ज्यादा थे. फिर भी, अधिकारी किसी तरह दोनों को बचाने में कामयाब रहे और हमने लड़की को महिला थाने और लड़के को औद्योगिक क्षेत्र के पुलिस स्टेशन भेज दिया. चार घंटे बाद यूपी पुलिस पहुंची और दोनों को उन्हें सौंप दिया गया."

देवास के एसपी शिव दयाल सिंह ने कहा कि दोनों नाबालिग एक ही समुदाय से हैं.
ADVERTISEMENT

आरोपियों की पहचान के लिए टीमें गठित

एसपी ने बताया कि मामले में 18 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है, जिसमें से तीन की पहचान की जा चुकी है. इसमें से एक सिहोर और दो देवास के रहने वाले हैं. डीएसपी ने कहा कि बाकी आरोपियों की पहचान और गिरफ्तारी के लिए टीमों का गठन किया गया है.

मध्य प्रदेश में 'भीड़तंत्र' जारी

पिछले कुछ दिनों में मध्य प्रदेश से ऐसी कई घटनाएं सामने आ चुकी है. 28 अगस्त को, नीमच में एक आदिवासी युवक कन्हैया लाल को छोटे पिकअप ट्रक से बांधकर घसीटा गया, जिसके बाद उसकी मौत हो गई. बाहुबलियों को शक था कि उसने चोरी की है.

28 अगस्त को, उज्जैन के मेहिदपुर में एक कबाड़ी वाले अब्दुल रशीद से कुछ लोगों ने जबरदस्ती ''जय श्री राम'' के नारे लगवाए. 26 अगस्त को देवास के हाटपिपलिया में टोस्ट और जीरा बेंचने वाले 45 वर्षीय जाहिद खान की दो युवकों ने बेरहमी से पिटाई कर दी. युवकों ने जाहिद से आधार कार्ड दिखाने के लिए कहा था.

22 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन इंदौर में हिंदू इलाके में चूड़ी बेचने गए मुस्लिम शख्स की पिटाई हुई.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT