ADVERTISEMENTREMOVE AD

झारखंड: उग्र भीड़ ने पीटा,पुलिस बिन कपड़ों के ले जाती दिखी- वीडियो

हजारीबाग के गिद्दी में राजू अंसारी नाम के एक शख्स को चोरी के शक में पीटा गया

Updated
राज्य
3 min read
छोटा
मध्यम
बड़ा

तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग केस की भयावह  यादें अभी धुंधली भी नहीं पड़ी हैं कि झारखंड में एक बार फिर उग्र भीड़ ने एक शक्स की बुरी तरह पिटाई  कर दी.. हजारीबाग के गिद्दी में राजू अंसारी नाम के एक शख्स को चोरी के शक में पीटा गया. ताज्जुब की बात ये है कि जब पुलिस आई तो वो भीड़ के खिलाफ कुछ करने के बजाय उसके साथ सहानुभूति पूर्वक बातचीत करती दिखाई दी. यहां तक कि पुलिस बिना कपड़ों के ही पीड़ित को हाथ पकड़ कर ले जाती दिखी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

नाम बताते ही शुरू कर दी पिटाई

घटना 18 अप्रैल की रात की है. राजू अंसारी हजारीबाग के गिद्दी में अपने ससुराल गया था. वो रहने वाला जिला रामगढ़, पतरातु का है. राजू अंसारी के पिता अली जान अंसारी के मुताबिक राजू जब ससुराल में अपनी गर्भवती पत्नी से मिलकर लौट रहा था तो उसकी बाइक में पेट्रोल खत्म हो गया. रात के करीब 11 बजे रहे थे. वो पेट्रोल तलाशने के लिए रुका ही था कि कुछ लोगों ने उसका नाम पूछा. जैसे ही उसने अपना नाम बताया, उसकी पिटाई शुरू कर दी. पिटाई के कुछ वीडियो भी सामने आए हैं जिसमें भीड़ राजू को गालियां दे रही है, देश द्रोही बता रही है और उसपर कोरोना फैलाने का आरोप लगा रही है. किसी ने पुलिस को सूचना दी. जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़ित को थाने ले गई.

उन्होंने नाम सुनते ही चोर-चोर कह कर पिटाई शुरू कर दी. पुलिस के सामने भी बिना कपड़ों के पिटाई हुई. मेरा बेटा कहता रह गया कि मैं बेगुनाह हूं लेकिन नहीं माने. पुलिस भी बिना कपड़ों के राजू को ले गई.
अली जान अंसारी, राजू के पिता

बिना कपड़ों के ले जाती दिखी पुलिस

राजू के सिर और पूरे शरीर पर पिटाई के निशान हैं. प्राइवेट पार्ट्स और सिर में ज्यादा चोट लगी है. थाने से ही राजू के परिवार को घटना की खबर मिली. उसके बाद अगली सुबह यानी रविवार को अली जान राजू को घर लेकर आए. ताज्जुब की बात ये है कि पुलिस ने जख्मी राजू का इलाज कराने के बजाय उसे घरवालों को सौंप दिया. सवाल ये भी है कि लॉकडाउन में 10-12 लोग एक साथ कैसे जमा थे और क्यों इस बात के लिए भी पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया. बहरहाल आला अफसरों को वारदात की जानकारी हुई, उसके बाद पुलिस राजू के घर आई उसे रांची स्थित RIMS अस्पताल ले गई.

बड़ा बाबू आए थे. वही लोग राजू को रांची के रिम्स में ले गए. फिलहाल वो वहीं है. एसपी साहब ने राजू से फोन पर बात की थी. उन्होंने पूछा कि कहां चोट लगी है. मेरे भाई ने कहा- सर कहां-कहां बताऊं, कहां चोट लगी है.
शमशेर अंसारी, राजू के भाई
हजारीबाग के गिद्दी में राजू अंसारी नाम के एक शख्स को चोरी के शक में पीटा गया
ADVERTISEMENTREMOVE AD

एफआईआर दर्ज, चार गिरफ्तार

हजारीबाग के एसपी मयूर पटेल कन्हैया लाल ने क्विंट से बातचीत में बताया कि इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है और चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है. हालांकि एसपी ने इसे मॉब लिंचिंग का केस मानने से इनकार किया क्योंकि किसी की मौत नहीं हुई. पतरातु, जहां राजू का घर है, वहां के थाना प्रभारी आदिल हुसैन ने क्विंट को बताया कि राजू का कोई आपराधिक बैकग्राउंड नहीं है. राजू ईंट भट्ठा पर मजदूरी करता है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×