महाराष्ट्र में बाहर से आने वालों की वजह से बढ़ा कोरोना:राज ठाकरे

ठाकरे ने कहा कि दूसरे राज्यों में टेस्टिंग के आंकड़े सही नहीं, बाहर से आने वालों के प्रवेश पर नियंत्रण जरूरी

Updated
राज्य
1 min read
राज ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उद्धव सरकार के सामने रखी अपनी मांगों के बारे में बताया
i

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बाद जारी नई गाइडलाइंस के बाद एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चर्चा की है. राज ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी मांगों के बारे में भी बताया. राज ठाकरे ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए महाराष्ट्र में बाहर से आने वालों के प्रवेश पर नियंत्रण, व्यापारियों के बिजली बिल माफ करने और कॉन्ट्रैक्ट लेबर को काम देने जैसी मांगें रखी हैं.

दूसरे राज्यों में टेस्टिंग के आंकड़े सही नहीं

राज ठाकरे ने कहा - महाराष्ट्र में कोरोना टेस्ट के आंकड़ों में पारदर्शिता है. लेकिन, अन्य राज्यों में कोरोना टेस्ट के आंकड़े साफ नहीं हैं. इसीलिए महाराष्ट्र में बाहर से आनेवाले लोगों के प्रवेश पर नियंत्रण जरूरी है.

राज ठाकरे ने उद्धव सरकार के सामने ये मांगें रखीं

  • लॉकडाउन में व्यापरियों के बिजली बिल माफ किए जाएं. केंद्र से बात करके उनका GST भी माफ हो.
  • कॉन्ट्रैक्ट लेबर्स को राज्य सरकार काम दे. उन्हें काम से निकाला गया था. लेकिन हमने इसके खिलाफ आंदोलन किया था.
  • जिम, सैलून, ब्यूटी पार्लर और मनोरंजन सुविधाएं भी कुछ दिनों तक शुरू रखने की इजाजत दी जाए.
  • किसानों को तय MSP दिया जाए.

महाराष्ट्र में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं. 5 अप्रैल को महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 47,288 नए केस आए. एक दिन पहले राज्य में करीब 57,074 कोरोना केस पाए गए थे. वहीं राज्य में 155 लोगों की मौत कोरोना की वजह से हुई है. महाराष्ट्र में कुल कोरोना वायरस केसों की संख्या अब 30,57,885 हो गई है. वहीं राज्य में एक्टिव केस 4,51,375 हैं. बता दें कि कोरोना वायरस की तूफानी रफ्तार को देखते हुए राज्य सरकार ने नए नियम जारी किए हैं और सख्ती बढ़ाई है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

Published: 
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!