ADVERTISEMENT

अखिलेश यादव ने नहीं किया बाबरी मस्जिद बनाने का वादा, फेक है स्क्रीनशॉट

Akhilesh Yadav ने न तो राम मंदिर के विरोध में कोई ट्वीट किया है न ही Babri Masjid के समर्थन में

Updated
अखिलेश यादव ने नहीं किया बाबरी मस्जिद बनाने का वादा, फेक है स्क्रीनशॉट
i

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और एसपी अध्यक्ष Akhilesh Yadav के बताए जा रहे एक Tweet का स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है. दावा किया जा रहा है कि अखिलेश यादव ने वादा किया है कि अगर Uttar Pradesh में 2022 में उनकी सरकार बनती है तो जिस जगह Ram Mandir बन रहा है, उसी स्थान पर Babri Masjid का निर्माण कराएंगे.

हालांकि, हमारी पड़ताल में सामने आया कि वायरल हो रहा ये स्क्रीनशॉट एडिटेड है. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ऐसा कोई ट्वीट असल में नहीं किया.

ADVERTISEMENT

दावा

ट्वीट के साथ शेयर किया जा रहा कैप्शन है

"उत्तर प्रदेश में अगर हमारी सरकार बनेगी, तो हम अपने मुस्लिम भाइयो से ये वादा करते है, कि बाबरी मस्जिद का निर्माण उसी स्थान पर कराएंगे जहा पर आज राम मंदिर का निर्माण हो रहा है"

पोस्ट का अर्काइव यहां  देखें

सोशल मीडिया पर कई यूजर्स ने ये स्क्रीनशॉट शेयर किया. अर्काइव यहां, यहां, यहां और यहां देखे जा सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया?

चूंकि वायरल हो रहे ट्वीट का स्क्रीनशॉट एंड्राइड फोन का लग रहा है. हमने एंड्रॉइड फोन से अखिलेश यादव के एक असली ट्वीट का स्क्रीनशॉट लेकर इसे वायरल स्क्रीनशॉट से मिलाया.

दोनों को मिलाने पर टेक्स्ट के अलाइनमेंट में थोड़ा अंतर हमें दिखा.

ADVERTISEMENT

आगे हमने Archive.is और Wayback Machine के जरिए अखिलेश यादव के पुराने ट्वीट खोजने शुरू किए. लेकिन, अखिलेश यादव के किसी ट्वीट का अर्काइव हमें नहीं मिला.

हमने अखिलेश की ट्विटर टाइमलाइन पर ऐसे पुराने ट्वीट सर्च करने भी शुरू किए, जो उन्होंने राम मंदिर और बाबरी मस्जिद को लेकर किए हों. राम मंदिर के विरोध में या बाबरी मस्जिद के समर्थन में किया गया अखिलेश का कोई ट्वीट हमें नहीं मिला.

ADVERTISEMENT

हमें अखिलेश यादव का 9 नवंबर, 2019 का एक ट्वीट मिला. इस ट्वीट से लग रहा है कि अखिलेश यादव ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का समर्थन किया है. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि ये फैसला लोगों के बीच बन गए फासलों को कम करेगा और बेहतर इंसान बनाएगा.

ADVERTISEMENT

पूर्व में अखिलेश यादव मीडिया को दिए बयानों में ये कह चुके हैं कि अगर अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण पूरा होता है, तो वे अपनी पत्नि और बच्चों के साथ 'रामलला' के दर्शन करने जरूर जाएंगे.

ADVERTISEMENT

हमें ऐसी कोई न्यूज रिपोर्ट नहीं मिली, जिससे पुष्टि होती हो कि अखिलेश यादव ने अयोध्या में बाबरी मस्जिद का निर्माण कराने की बात कही है. ये संभव नहीं है कि एक पूर्व मुख्यमंत्री के इस तरह का बयान दियो हो और उसे मीडिया में जगह ही न मिले.

साफ है कि वायरल हो रहे ट्वीट का स्क्रीनशॉट फेक है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि अखिलेश यादव ने उसी स्थान पर बाबरी मस्जिद बनवाने का वादा किया है, जहां राम मंदिर बन रहा है. ऐसा कोई ट्वीट अखिलेश यादव ने नहीं किया है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

क्विंट हिंदी पर लेटेस्ट न्यूज और ब्रेकिंग न्यूज़ पढ़ें, news और webqoof के लिए ब्राउज़ करें

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT
×
×