ADVERTISEMENTREMOVE AD

परशुराम मंदिर में जूते पहनकर नहीं पहुंचे अखिलेश यादव, सच यहां है

परशुराम मंदिर के उद्घाटन के दूसरे विजुअल्स देखने पर पुष्टि हो रही है कि अखिलेश यादव ने जूते नहीं पहने थे

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

सोशल मीडिया पर एक फोटो शेयर कर दावा किया जा रहा है कि उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और एसपी प्रमुख अखिलेश यादव जूते पहनकर पूजा में शामिल हुए. हालांकि हमारी पड़ताल में सामने आया कि ये दावा गलत है.

फोटो जिस कार्यक्रम की है, उसका पूरा वीडियो हमने देखा. वीडियो में देखा जा सकता है कि पूजा स्थल पर जाने से पहले अखिलेश ने अपने जूते उतारे थे.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

दावा

फोटो को अलग-अलग कैप्शंस के साथ इस दावे से शेयर किया जा रहा है कि अखिलेश ने जूते पहनकर पूजा में हिस्सा लिया

परशुराम मंदिर के उद्घाटन के दूसरे विजुअल्स देखने पर पुष्टि हो रही है कि अखिलेश यादव ने जूते नहीं पहने थे

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/ट्विटर

यही दावा करते अन्य सोशल मीडिया पोस्ट्स का अर्काइव यहां और यहां देख सकते हैं

पड़ताल में हमने क्या पाया

गूगल लैंस के जरिए वायरल फोटो को सर्च करने पर हमें अखिलेश यादव के 2 जनवरी, 2022 के ट्वीट में हमें यही फोटो मिली. अखिलेश के इस ट्वीट से हमें क्लू मिला कि ये फोटो परशुराम मंदर या परशुराम की पूजा से जुड़े समारोह की है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

समाजवादी पार्टी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से 2 जनवरी को ट्वीट की गईं इसी आयोजन की अन्य तस्वीरें हमें मिलीं. परशुराम की मूर्ति से स्पष्ट हो रहा है कि दोनों तस्वीरें एक ही आयोजन की हैं. ट्वीट से पता चला कि ये तस्वीरें लखनऊ के गोसाईगंज में परशुराम मंदिर में दर्शन के लिए गए अखिलेश यादव की है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

अब हमने अलग-अलग कीवर्ड के जरिए लखनऊ के गोसाईगंज में परशुराम मंदिर गए अखिलेश यादव से जुड़ी मीडिया रिपोर्ट्स सर्च कीं. हमें 2 जनवरी, 2022 की रिपोर्ट्स से हमें पता चला कि इस दिन अखिलेश ने समाजवादी पार्टी की विजय रैली की शुरुआत परशुराम मंदिर के उद्घाटन से की थी.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

अखिलेश की वायरल फोटो में जूम करने से भी ये स्पष्ट नहीं हुआ कि उनके पैर में जूता है या मोज़ा. इसलिए हमने ऐसे विजुअल खोजने शुरू किया, जिनमें अखिलेश बाहर से मंदिर में प्रवेश करते दिख रहे हों, जिनसे स्पष्ट हो सके कि वह बिना जूते उतारे ही मंदिर में घुस गए या नहीं.

परशुराम मंदिर के उद्घाटन के दूसरे विजुअल्स देखने पर पुष्टि हो रही है कि अखिलेश यादव ने जूते नहीं पहने थे
ADVERTISEMENTREMOVE AD

सपा के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर हमें परशुराम मंदिर के उद्घाटन की लाइव स्ट्रीमिंग का वीडियो मिला. वीडियो में 6:00 मिनट के बाद अखिलेश को बस से उतरकर मंदिर की तरफ जाते देखा जा सकता है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

वीडियो में 6:43 मिनट बाद अखिलेश मंदिर के पास बनी रैलिंग तक पहुंचते हैं, यहां उनके मूवमेंट से साफ हो रहा है कि वो जूते उतार रहे हैं. ठीक 6:45 मिनट पर नीचे की तरफ देखते हुए अखिलेश यादव ने जूते उतारे, या उनके मूवमेंट से समझ आ रहा है. 8: 39 मिनट बाद अखिलेश को पूजा में बैठे हुए भी देखा जा सकता है. इस विजुअल में साफ दिख रहा है कि वो काले रंग के मोजे पहने हैं, जूते नहीं.

परशुराम मंदिर के उद्घाटन के दूसरे विजुअल्स देखने पर पुष्टि हो रही है कि अखिलेश यादव ने जूते नहीं पहने थे
ADVERTISEMENTREMOVE AD

सपा के फेसबुक पेज से भी 2 जनवरी को कुछ तस्वीरें पोस्ट की गई थीं, इनमें से एक तस्वीर में अखिलेश यादव उस मंदिर से ठीक बाहर खड़े देखे जा सकते हैं जहां पूजा हुई. इस तस्वीर में साफ दिख रहा है कि अखिलेश जूते नहीं बल्कि काले रंग के मोजे पहने हुए हैं.

परशुराम मंदिर के उद्घाटन के दूसरे विजुअल्स देखने पर पुष्टि हो रही है कि अखिलेश यादव ने जूते नहीं पहने थे
ADVERTISEMENTREMOVE AD

सोशल मीडिया पर किया जा रहा ये दावा सही नहीं है कि अखिलेश यादव जूते पहनकर परशुराम की पूजा में शामिल हुए.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×