ADVERTISEMENT

धार्मिक टोपी पहने पीएम मोदी और अमित शाह की ये फोटो एडिटेड है

ये फोटो साल 2019 की है जिसे पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली के घर के बाहर खींचा गया था.

Published
मॉर्फ्ड फोटो
i

पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की एक मॉर्फ्ड फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें दोनों टोपी पहने हुए हैं. कई यूजर्स इस फोटो को शेयर कर दावा कर रहे हैं कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले BJP तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है.

दावा

इस फोटो को बांग्ला में लिखे कैप्शन के साथ फेसबुक और ट्विटर पर शेयर किया जा रहा है, जिसका हिंदी अनुवाद है: "ये तस्वीर सबके लिए नहीं है. ये उन सभी भक्तों के लिए है जो ममता को ममता बेगम कहते हैं. ये वो लोग हैं जिनका नाम रखा जाना चाहिए (फोटो में दिख रहे लोग). हम कोई भी काम छुपाके नहीं करते और न ही हम ऐसा करना चाहते हैं. हम कुछ भी नहीं छिपा सकते और आप?

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/CF2S-8849">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/NV6Q-PW5Z">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसुबक)
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/83ZT-9UTA">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसुबक)
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://archive.st/archive/2021/3/twitter.com/fa4p/">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)
ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमने फोटो को रिवर्स इमेज सर्च करके देखा. NEWS 18 की 28 अगस्त 2019 को प्रकाशित एक रिपोर्ट में इस वायरल फोटो का जूम्ड आउट वर्जन इस्तेमाल किया गया था.

अरुण जेटली के घर के बाहर की फोटो
अरुण जेटली के घर के बाहर की फोटो
(फोटो: स्क्रीनशॉट/News 18)

कैप्शन के मुताबिक, ये फोटो पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली के घर के बाहर खींची गई थी. पीएम मोदी और अमित शाह जेटली के देहांत के बाद शोक प्रकट करने गए थे.

News 18 ने इस फोटो के लिए न्यूज एजेंसी PTI को क्रेडिट दिया था.

हमें PTI आर्काइव में यही फोटो मिली. जिसे 28 अगस्त 2019 को अपलोड किया गया था.

ये फोटो 28 अगस्त 2019 को अपलोड की गई थी
ये फोटो 28 अगस्त 2019 को अपलोड की गई थी
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/PTI)

ओरिजनल फोटो और वायरल फोटो दोनों को एक साथ रखकर इनकी तुलना करने पर हमें दिखता है कि कैसे ओरिजनल फोटो के साथ छेड़छाड़ करके फोटो में धार्मिक टोपी जोड़ दी गई है.

वायरल और ओरिजिनल फोटो में तुलना
वायरल और ओरिजिनल फोटो में तुलना
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक/News18)

मतलब साफ है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की 2019 की फोटो के साथ छेड़छाड़ कर इस गलत दावे से शेयर किया जा रहा है कि दोनों ने बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले धार्मिक टोपी पहनी है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT