ADVERTISEMENTREMOVE AD

अखिलेश यादव के साथ इस फोटो में अतीक अहमद की हत्या के आरोपी नहीं

फोटो शेयर कर अखिलेश यादव का संबंध अतीक अहमद की हत्या के आरोपियों से होने का दावा किया जा रहा है

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा
Hindi Female

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों के साथ खड़े दिख रहे समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की एक फोटो वायरल है. फोटो में पीछे खड़े एक शख्स के चेहरे पर लाल सर्कल लगा है और कहा जा रहा है कि ये अतीक अहमद (Atique Ahmed) के हत्यारों में से एक है. यहां बता दें कि 15 अप्रैल को पूर्व सांसद और माफिया अतीक अहमद की पुलिस की मौजूदगी में गोली मारकर हत्या कर दी गई.

दावा : फोटो शेयर कर दावा किया जा रहा है कि अतीक अहमद की हत्या के पीछे समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव का हाथ हो सकता है.

फोटो शेयर कर अखिलेश यादव का संबंध अतीक अहमद की हत्या के आरोपियों से होने का दावा किया जा रहा है

पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

सोर्स : स्क्रीनशॉट/फेसबुक

कई यूजर्स ने फोटो शेयर कर ये दावा किया अर्काइव यहां और यहां देख सकते हैं.  Indus Scrolls वेबसाइट ने भी यही दावा किया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्या ये दावा सच है ? : फोटो में दिख रहे दो लोगों की पहचान मध्यप्रदेश के युवा कांग्रेस नेताओं के तौर पर की. हमें पता चला कि ये दोनों सीहोर यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष राजकुमार यादव और देवास के पार्षद विक्रम पटेल हैं.

0

हमने ये सच कैसे पता लगाया ? : फोटो को रिवर्स सर्च करने पर हमें अखिलेश यादव ने 13 अप्रैल को अपने वेरिफाइड ट्विटर हैंडल से कुछ ट्वीट किए थे, जिनमें से एक ट्वीट में ये फोटो थी. अखिलेश के इस ट्वीट में फोटो को मध्यप्रदेश का बताया गया है.

फोटो शेयर कर अखिलेश यादव का संबंध अतीक अहमद की हत्या के आरोपियों से होने का दावा किया जा रहा है

अखिलेश यादव ने 13 अप्रैल को शेयर की थी ये फोटो

सोर्स : अखिलेश यादव/ट्विटर/स्क्रीनशॉट

द क्विंट के मध्यप्रदेश के संवाददाता ने पुष्टि की कि फोटो में दिख रहे दो लोग सीहोर यूथ कांग्रेस अध्यक्ष राजकुमार यादव और देवास के पूर्व पार्षद विक्रम पटेल हैं.

  • हमने यूथ कांग्रेस के इन दोनों नेताओं से संपर्क किया.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

द क्विंट से बात करते हुए राजकुमार यादव ने पुष्टि की कि वो कांग्रेस से जुड़े हैं और वायरल फोटो में वही हैं.

(दोनों तस्वीरें देखने के लिए स्वाइप करें)

  • इस शख्स की पहचान राजकुमार यादव के रूप में हुई

    फोटो : Altered by Quint

ये फोटो मेरी है. फोटो मध्यप्रदेश के खरगौन में 13 अप्रैल को खींची गई थी. उस वक्त अखिलेश यादव मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सुभाष यादव के स्मारक पर आए थे.
सुभाष यादव, अध्यक्ष, मध्यप्रदेश यूथ कांग्रेस
ADVERTISEMENTREMOVE AD
  • राजकुमार ने आगे कहा कि वो सोशल मीडिया पर किए जा रहे भ्रामक दावों को लेकर पुलिस अधीक्षक (SP) के पास शिकायत दर्ज कराएंगे.

  • वहीं फोटो में दिख रहे दूसरे शख्स की पहचान देवास के पूर्व पार्षद विक्रम पटेल के तौर पर हुई. विक्रम ने भी पुष्टि की कि फोटो में वही हैं.

(दोनों तस्वीरें देखने के लिए स्वाइप

  • इस शख्स की पहचान विक्रम पटेल के तौर पर हुई

    फोटो : Altered by Quint Hindi

ADVERTISEMENTREMOVE AD
''हां, ये फोटो मेरी है. अखिलेश यादव अखिलेश यादव यहां खंडवा में दिवंगत नेता सुभाष यादव की प्रतिमा पर माथा टेकने पहुंचे थे. मेरे सुभाष यादव के बेटे अरुण यादव से काफी अच्छे संबंध हैं.''
विक्रम पटेल, पूर्व पार्षद देवास

विक्रम पटेल ने पुष्टि की कि वो कांग्रेस पार्टी से हैं और आगे कहा ''मैं देवास में 10-15 साल पार्षद रहा और अब मैं नगर पालिका में नेता विपक्ष की भूमिका में हूं."

ADVERTISEMENTREMOVE AD

अतीक अहमद की हत्या के आरोपी : उत्तरप्रदेश पुलिस की FIR के मुताबिक, अतीक और अशरफ अहमद की हत्या के आरोपी लवलेश तिवारी (22), मोहित उर्फ शनि पुराने (23) और अरुण कुमार मौर्या (18) हैं.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्विंट के पास अतीक अहमत की हत्या के असली आरोपियों की तस्वीर है.

फोटो शेयर कर अखिलेश यादव का संबंध अतीक अहमद की हत्या के आरोपियों से होने का दावा किया जा रहा है

(बाएं से दाएं) अरुण मौर्य, सनी पुराणे और लवलेश तिवारी

सोर्स : Altered by Quint Hindi

ADVERTISEMENTREMOVE AD

निष्कर्ष : समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की फोटो में दिख रहे दोनों लोग मध्यप्रदेश यूथ कांग्रेस के नेता हैं. सोशल मीडिया पर किया जा रहा ये दावा गलत है कि फोटो में अतीक अहमद की हत्या के आरोप हैं.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर 9643651818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×