ADVERTISEMENT

बांग्लादेश का वीडियो, बंगाल में महिला के साथ अत्याचार का बता वायरल

इस वीडियो की पड़ताल में क्या-क्या सामने आया? 

Updated
ये बंगाल का नहीं बांग्लादेश का है
i

सोशल मीडिया पर पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा से जुड़ी कई खबरें शेयर हो रही हैं. इसी बीच बांग्लादेश का एक वीडियो भी शेयर हो रहा है जिसमें एक लड़की को कुछ लोग घर से खींचकर ले जाते दिख रहे हैं. वीडियो को 'TMC के गुंडों' की गुंडागर्दी का बताकर झूठे दावे से शेयर किया जा रहा है.

हालांकि, वीडियो बंग्लादेश के भोला जिले का है. वीडियो में दिख रही लड़की ने कथित तौर पर शादी करने के लिए इस्लाम अपना लिया था जिसे स्थानीय लोग वापस उसके परिवार के पास लेकर जा रहे थे. अधिकारियों के मुताबिक, लड़की नाबालिग थी, इसलिए शादी अवैध थी.

दावा

वीडियो को कई सोशल मीडिया यूजर्स ने शेयर करके कैप्शन में दावा किया है कि ये वीडियो बंगाल का है.

‘Aakash Jaiswal’ नाम के फेसबुक यूजर ने इस वीडियो को शेयर करके दावा किया है कि पश्चिम बंगाल में महिलाओं के खिलाफ हिंसा हो रही है. इसके अलावा, पीएम मोदी से ऐसी घटनाओं पर संज्ञान लेने के लिए भी बोला जा रहा है.

(विजुअल आपको विचलित कर सकते हैं)

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/J5W5-JKJS">यहां</a> क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

एक अन्य यूजर ने वीडियो शेयर कर पीएम मोदी से मांग की है कि ‘’बंगाल को ममता बनर्जी से बचाओ’’.

ADVERTISEMENT

ऐसा ही दावा तेलुगू में भी शेयर किया गया था. ‘Nivas Battula’ नाम के एक यूजर ने वीडियो शेयर कर दावा किया है - वीडियो में दिख रहा है कि ''बंगाल में मुस्लिम गिरोहों को हिंदू लड़की का रेप करने और उसे मारने की आजादी है'' और उन्हें TMC के गुंडों का समर्थन मिला हुआ है.

आर्टिकल लिखते समय तक इस यूजर की पोस्ट पर 16,000 व्यू और 1,300 शेयर मिल चुके थे. इसका आर्काइव आप यहां देख सकते हैं. ट्विटर हैंडल ‘Hindu Ecosystem’ ने भी इस वीडियो को बिना किसी संदर्भ के शेयर किया था, हालांकि बाद में वीडियो को डिलीट कर लिया गया था.

इस तरह के दावों का आर्काइव आप यहां और यहां देख सकते हैं.

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

Boom की बांग्लादेश टीम की मदद से हमें इस वीडियो का बड़ा वर्जन मिला. इसमें लड़की को उसके इनकार करने के बावजूद कुछ लोग पकड़ कर ले जाते हुए दिख रहे हैं. वीडियो में लड़की एक बुजुर्ग के पैरों में गिरती हुई भी दिख रही है. ये वीडियो SR TV नाम के यूट्यूब चैनल पर 26 अप्रैल 2021 को अपलोड किया गया था.

वीडियो के कैप्शन में लिखा गया है, ''देखिए लड़की के साथ क्या हुआ जब उसने हिंदू से मुस्लिम धर्म अपना लिया''

ये वीडियो 26 अप्रैल 2021 को अपलोड किया गया था
ये वीडियो 26 अप्रैल 2021 को अपलोड किया गया था
(फोटो: स्क्रीनशॉट/यूट्यूब)

हमने घटना से जुड़े कीवर्ड सर्च करके देखे. हमें फेसबुक पर शेयर किया गया 27 अप्रैल 2021 का एक वीडियो मिला.

कैप्शन में लिखा है कि ये घटना भोला जिले के दौलतखान की है और श्रीबंती उर्फ जन्नतुल फेरदौस ने कमरुल इस्लाम नाम के एक शख्स से शादी करने के लिए इस्लाम अपना लिया था.
ADVERTISEMENT

बांग्लादेश की न्यूज वेबसाइट Dhaka Post की एक रिपोर्ट के मुताबिक, श्राबंती के परिवार ने उसके गायब होने पर अपहरण का केस दर्ज कराया था और वीडियो में उसे ‘’बचाते’’ हुए दिखाया जा रहा है.

गाजीपुर मेट्रोपॉलिटन पुलिस और दौलतखान के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लड़की की उम्र सिर्फ 15 साल है. इसलिए, धर्म परिवर्तन के बाद की गई यह शादी अवैध है.

दूसरी ओर कमरूल ने दावा किया था कि लड़की की उम्र 18 साल थी और श्रावंती ने अपनी इच्छा से इस्लाम को अपनाया था. उसने 15 अप्रैल को एक नोटरी के माध्यम से इस्लाम में धर्मांतरण किया था और जन्नतुल फिरदौस नाम अपनाया था. हालांकि, 23 अप्रैल को लोग उसे ले गए.

ADVERTISEMENT

Dainik Amader Shomoy के दैनिक समाचारपत्र की एक अन्य रिपोर्ट में बताया गया है कि वायरल वीडियो में श्रावंती को गयासुद्दीन नाम के एक स्थानीय पार्षद के पैर पकड़े हुए और रोते हुए देखा जा सकता है.

मतलब साफ है कि बांग्लादेश का एक वीडियो पश्चिम बंगाल में हिंसा की घटना का बताकर गलत दावे से शेयर किया जा रहा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
Published: 
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT