ADVERTISEMENT

नमाजियों की गुंडागर्दी का बताकर सड़क सुरक्षा का वीडियो वायरल

इस वीडियो को राघवेंद्र कुमार ने सड़क सुरक्षा से जुड़ी जागरूकता फैलाने के लिए बनाया था.

Published
ये वीडियो सड़क सुरक्षा से जुड़ी जागरूकता फैलाने के लिए बनाया था.
i

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ स्थानीय लोग हेलमेट न पहनने पर बाइक वाले को रोक कर उसे हेलमेट पहनने की सलाह दे रहे हैं. इसके बाद, मुस्लिमों की भीड़ तलवारें और बंदूक लहराते हुई आती दिख रही है. वीडियो शेयर कर कहा जा रहा है कि भारत में सेक्युलरिज्म की बात करने वालों को ये देखना चाहिए, क्योंकि ये वीडियो उनके लिए ''रिएलिटी चेक'' की तरह है.

हालांकि, हमने पाया कि ये वीडियो किसी सच्ची घटना का नही हैं. बल्कि, इसे राघवेंद्र कुमार ने बनाया था ताकि बिहार के कैमूर जिले की मुस्लिम आबादी के बीच सड़क सुरक्षा को लेकर जागरूकता फैलाई जा सके.

दावा

इस वायरल वीडियो को विश्व हिंदू परिषद की साध्वी प्राची ने फेसबुक पर इस दावे के साथ शेयर किया है: "सेकुलरिजम का झुनझुना बजाने वाले ये वीडियो अवश्य देखें. बिना हेलमेट नमाजियों को रोका तो कैसे एक फोन पर पचासों शांतिदूत बन्दूक और तलवार लेकर आ गये. क्या पुलिस किसी हिन्दू को बिना हेलमेट पकड़ती है तो बिना चालान किये जाने देती ??"

पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए <a href="https://perma.cc/Q4T5-GYP2">यहां </a>क्लिक करें
पोस्ट का आर्काइव देखने के लिए यहां क्लिक करें
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)

ये वीडियो इसी भ्रामक दावे के साथ ट्विटर और फेसबुक पर वायरल है. (ऐसे दावों का आर्काइव आप यहां, यहां और यहां देख सकते हैं.)

ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमने InVid Google Chrome extension का इस्तेमाल करके वायरल वीडियो को कई कीफ्रेम में बांटा और उनमें से एक कीफ्रेम पर रिवर्स इमेज सर्च किया. हमें यूट्यूब पर Helmet Man India नाम के चैनल का 20 मार्च को अपलोड किया गया एक वीडियो मिला.

ये वीडियो वायरल वीडियो का बड़ा वर्जन है. इस वीडियो में एक शख्स मुस्लिम युवाओं को हेलमेट पहनने की सीख देता हुआ देखा जा सकता है.

इसके बाद, हमने फेसबुक पर 'Helmet Man' कीवर्ड सर्च करके देखा. हमें इसी नाम से एक पेज मिला जहां से कॉन्टैक्ट डिटेल्स लेकर हमने राघवेंद्र से बात की.

Helmet Man India का फेसबुक पेज
Helmet Man India का फेसबुक पेज
(फोटो: स्क्रीनशॉट/फेसबुक)
ADVERTISEMENT

राघवेंद्र कुमार 'हेलमेट मैन' ने क्विंट से बातचीत में बताया कि उन्होंने अपने भाई को एक रोड एक्सीडेंट में खो दिया था. उसके बाद उन्होंने संकल्प लिया कि वो सड़क सुरक्षा से जुड़े काम करेंगे. इसके लिए, वो बिहार के कैमूर जिले पहुंचे जहां एक मस्जिद के मौलवी और कुछ स्थानीय युवाओं ने हेलमेट पहनने से जुड़ी जागरूकता फैलाने वाला वीडियो बनाने में उनकी मदद की.

‘’ये दुखद है कि एक नेक काम के लिए फिल्माए गए वीडियो को नफरत फैलाने के लिए सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है. जहां वीडियो शूट किया गया था वहां की मस्जिद के मौलवी और कुछ स्थानीय युवा मेरे साथ वीडियो पर काम करने के लिए आसानी से सहमत हो गए थे. इसमें किसी भी तरह का कोई भी सांप्रदायिक ऐंगल नहीं है.’’
राघवेंद्र कुमार, रोड सेफ्टी ऐक्टिविस्ट

मतलब साफ है कि बिहार में रोड सेफ्टी को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए बनाया गया वीडियो, सांप्रदायिक ऐंगल देकर भ्रामक दावे से शेयर किया जा रहा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT