ADVERTISEMENT

ब्राजील का वीडियो बंगाल में BJP कार्यकर्ता की हत्या का बताकर वायरल

दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो बीजेपी कार्यकर्ता उत्तम घोष की हत्या का है.

Published
दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो बीजेपी कार्यकर्ता उत्तम घोष की हत्या का है.
i

पश्चिम बंगाल में 2 मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से हिंसा की कई घटनाएं हुई हैं. इस बीच, सोशल मीडिया पर कई लोग कहीं और के वीडियो और पुरानी तस्वीरें पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा से जोड़कर शेयर कर रहे हैं. इसी क्रम में सोशल मीडिया पर साल 2018 का एक वीडियो शेयर हो रहा है, जिसे बीजेपी वर्कर उत्तम घोष की हत्या का बताकर शेयर किया जा रहा है.

हालांकि, पड़ताल में हमने पाया कि कथित तौर पर बीजेपी कार्यकर्ता उत्तम घोष की हत्या चुनावी नतीजे आने के बाद हुई है. लेकिन वायरल हो रहा वीडियो बंगाल का नहीं, बल्कि ब्राजील का है.

दावा

उत्तम घोष की पत्नी के नाम से शेयर हो रहे इस मैसेज में लिखा है, ‘’ “मेरे पति को घर से घसीट कर ले गए टीएमसी के लोग और बोले अब बोल जय श्री राम अब कहां है तेरे भाजपा वाले अब कहां हैं तेरे हिंदू अब कौन तुझे बचाएगा यह कह कर उन्होंने मेरे पति को गंगापुर राणाघाट पर मार दिया -उत्तम घोष की पत्नी ,(बंगाल) दैनिक भास्कर अखबार के इंटरव्यू का अंश!

(क्विंट ने मैसेज के साथ शेयर हो रहे वीडियो को आर्टिकल में इस्तेमाल नहीं किया है, क्योंकि ये आपको विचलित कर सकता है)

कई ट्विटर यूजर्स ने इसे शेयर किया है
कई ट्विटर यूजर्स ने इसे शेयर किया है
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)

कई लोगों ने ये वीडियो इसी दावे को कॉपी-पेस्ट करके फेसबुक और ट्विटर दोनों जगह शेयर किया है.

कॉपी-पेस्ट करके यही दावा कई लोगों ने किया है.
कॉपी-पेस्ट करके यही दावा कई लोगों ने किया है.
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/ट्विटर)
ADVERTISEMENT

पड़ताल में हमने क्या पाया

हमने Invid के गूगल क्रोम एक्सटेंशन का इस्तेमाल करके वीडियो को कई कीफ्रेम में बांटा और उनमें से एक पर रिवर्स इमेज सर्च करके देखा. हमने पाया कि ये वीडियो बंगाल का नहीं, बल्कि ब्राजील का है और करीब 3 साल पुराना है.

हमें sobral24horas नाम की एक वेबसाइट पर 7 जनवरी 2018 को पब्लिश एक रिपोर्ट मिली. जिसमें वही विजुअल इस्तेमाल किया गया था जो वायरल वीडियो में दिख रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक करीब 5 लोगों ने मिलकर एक 17 साल के किशोर की हत्या कर दी.

ये अपराध फोर्टालेजा के प्राया डो फुटुरो (Praia do Futuro) में हुआ. ये एक पर्यटन स्थल है. रिपोर्ट में ये भी लिखा है कि सबसे बुरी बात ये है कि इस हत्या को फिल्माया गया और वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया गया. रिपोर्ट के मुताबिक ये घटना 30 दिसंबर 2017 को हुई थी.

ये घटना दिसंबर 2017 की है.
ये घटना दिसंबर 2017 की है.
(सोर्स: स्क्रीनशॉट/वेबसाइट)
ADVERTISEMENT

इसके अलावा, हमें noticias.r7 नाम की एक और वेबसाइट मिली, जिसमें 5 जनवरी 2018 को इसी वीडियो के विजुअल के साथ एक रिपोर्ट पब्लिश हुई थी. रिपोर्ट के मुताबिक जांच में सेक्शुअल ओरिएंटेशन को लेकर की गई हत्या की आशंका को नकारा गया था.

रिपोर्ट में इस बात की आशंका जताई गई थी कि हत्या दो गुटों के बीच हुए संघर्ष की वजह से हुई है. रिपोर्ट में वही सारी जानकारी थी जो ऊपर बताई गई रिपोर्ट में थी. इस रिपोर्ट के मुताबिक जिस 17 साल के किशोर की हत्या हुई उसका नाम वेस्ली टियागो दे सूसा (Wesley Tiago de Sousa Carvalho) था.

इसके अलावा, हमने वीडियो को ध्यान से देखने पर पाया कि वीडियो में दिख रहे लोग जो भाषा बोल रहे हैं वो भारतीय नहीं लग रही है.

ADVERTISEMENT

हमें BBC की एक रिपोर्ट मिली जिसमें इस बात का जिक्र था कि उत्तम घोष नाम के एक बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या का आरोप बीजेपी नेता दिलीप घोष ने टीएमसी समर्थकों पर लगाया था. रिपोर्ट के मुताबिक टीएमसी ने इसे खारिज कर दिया था.

रिपोर्ट में इस बारे में भी बताया गया है कि जिला पुलिस के एक अधिकारी बताते हैं, "मृतक कई समाजविरोधी गतिविधियों में शामिल था. उसकी हत्या की वजह निजी दुश्मनी हो सकती है."

इसके अलावा, हमें The Wire की भी एक रिपोर्ट मिली जिसके मुताबिक, ‘BJP कार्यकर्ता उत्तम घोष’ की कथित तौर पर विपक्षी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने हत्या कर दी थी.

मैसेज में ये दावा भी किया जा रहा है कि ये वायरल मैसेज उत्तम घोष की पत्नी के Dainik Bhaskar को दिए गए इंटरव्यू के कुछ अंश हैं. जबकि खुद Dainik Bhaskar ने इस बात से इनकार किया है कि उन्होंने उत्तम घोष की पत्नी का इंटरव्यू लिया है. Dainik Bhaskar ने इस दावे को खारिज करते हुए लिखा है कि..

दैनिक भास्कर वीडियो के साथ किए जा रहे दावे का खंडन करता है. भास्कर ने उत्तम घोष की पत्नी का ऐसा कोई इंटरव्यू नहीं किया है.
ADVERTISEMENT

क्विंट इस वीडियो को 2019 में भी डिबंक कर चुका है. तब भी झूठा दावा किया गया था कि ये वीडियो भारत का है.

मतलब साफ है कि ये वीडियो बंगाल का नहीं, बल्कि ब्राजील का है. जिसे पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा से जोड़कर शेयर किया जा रहा है.

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

ADVERTISEMENT
ADVERTISEMENT
क्विंट हिंदी के साथ रहें अपडेट

सब्स्क्राइब कीजिए हमारा डेली न्यूजलेटर और पाइए खबरें आपके इनबॉक्स में

120,000 से अधिक ग्राहक जुड़ें!
ADVERTISEMENT