ADVERTISEMENTREMOVE AD

चीन की गड्ढों वाली सड़कों का वीडियो भारत का बताकर वायरल

चीन के वीडियो को उत्तरप्रदेश के लखनऊ ला बताकर वायरल किया जा रहा है.

Published
story-hero-img
i
छोटा
मध्यम
बड़ा

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें पानी भरे गड्ढे को गाड़ियां पार करती दिख रही हैं.

दावा : वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ की है.

चीन के वीडियो को उत्तरप्रदेश के लखनऊ ला बताकर वायरल किया जा रहा है.

इस पोस्ट का अर्काइव यहां देखें

(सोर्स - स्क्रीनशॉट/X)

(ऐसे ही दावे करने वाले अन्य पोस्ट के अर्काइव आप यहां, और यहां देख सकते हैं.)

ADVERTISEMENTREMOVE AD

क्या यह दावा सही है ? नहीं, यह दावा सही नहीं है. यह वीडियो उत्तर प्रदेश के लखनऊ का नहीं बल्कि चीन का है.

  • यह वीडियो चीनी ऐप PipiXia app का है, जिसे भारत में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता. भारत में इस ऐपका एक्सेस नहीं होने की वजह से हम इस वीडियो की असल लोकेशन का पता नहीं लगा पाए. पर ऐसे कई सबूत हमको मिले, जिनसे साबित होता है कि ये वीडियो चीन का है.

हमनें सच का पता कैसे लगाया ? हमनें इस वीडियो के कीफ्रेम पर Google Lens की मदद से इमेज सर्च ऑप्शन का इस्तेमाल किया.

  • हमें एक X (पूर्व में ट्विटर) यूजर की पोस्ट मिली जिसमें इस वीडियो का थोड़ा क्लियर वर्जन मौजूद था.

  • वीडियो के ऊपर हमें एक लोगो दिखाई दिया, इस लोगो को गूगल लेंस की मदद से सर्च करने पर हमनें पाया कि यह चाइनीज भाषा में Pipixia app लिखा था

चीन के वीडियो को उत्तरप्रदेश के लखनऊ ला बताकर वायरल किया जा रहा है.

चाइनीज भाषा में Pipixia app लिखा हुआ देखा जा सकता है.

(वीडियो स्क्रीनशॉट)

वायरल वीडियो में हमें एक बिलबोर्ड दिखाई दिया, जिसका स्क्रीनशॉट लेकर हमनें पहले Google Lens की मदद से उस टेक्स्ट को कॉपी किया फिर उसके बाद उसे Google ट्रांस्टलेट पर पेस्ट किया, गूगल ट्रांसलेट ने इस भाषा को चाइनीज भाषा के रूप में डिटेक्ट किया.

चीन के वीडियो को उत्तरप्रदेश के लखनऊ ला बताकर वायरल किया जा रहा है.

चाइनीज भाषा में लिखा बोर्ड

(सोर्स - स्क्रीनशॉट)

वायरल वीडियो में नजर आ रही बस भी चीन में पब्लिक ट्रांसपोर्ट का हिस्सा है जिसकी जानकारी chinadaily.com पर मौजूद है.

ADVERTISEMENTREMOVE AD

निष्कर्ष: चीन के वीडियो को भारत का बताकर सोशल मीडिया पर भ्रामक दावों के साथ शेयर किया जा रहा है.

(अगर आपके पास भी ऐसी कोई जानकारी आती है, जिसके सच होने पर आपको शक है, तो पड़ताल के लिए हमारे वॉट्सऐप नंबर  9540511818 या फिर मेल आइडी webqoof@thequint.com पर भेजें. सच हम आपको बताएंगे. हमारी बाकी फैक्ट चेक स्टोरीज आप यहां पढ़ सकते हैं.)

(हैलो दोस्तों! हमारे Telegram चैनल से जुड़े रहिए यहां)

सत्ता से सच बोलने के लिए आप जैसे सहयोगियों की जरूरत होती है
मेंबर बनें
अधिक पढ़ें
×
×